ठाकुर द्वारा किए गए अपमान से सतपाल तिलमिला कर रह गया. उस की इस तिलमिलाहट का भरपूर फायदा उठाया नेता चौधरी ने और फिर आरंभ हुआ ग्रामीण जमीन की शतरंज पर शह और मात का पेचीदा खेल.

'सरस सलिल' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now