नवरात्र की वजह से देश के लगभग सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती थी. यही हाल दिल्ली के गांधीनगर स्थित प्राचीन शिव मंदिर का भी था. उन दिनों चढ़ावा कुछ ज्यादा आता है, इसलिए पुजारी मंदिरों में ही डटे रहते हैं.