धार्मिक रीतिरिवाज आज भी वैवाहिक कानूनों के आवश्यक हिस्से हैं.