उदयन ने जिस तरह से नृशंस हत्याएं की हैं, उस से युवाओं में बढ़ती हिंसक प्रवृत्ति और मनोविकारों पर एक बार फिर गंभीर विमर्श किए जाने की जरूरत है.