जगदीश (बदला नाम) व्यवसायी हैं और आजकल काफी परेशान रह रहे हैं. बैंक अधिकारियों से ले कर रिश्तेदारों व परिचितों तक से पूछते रहते हैं कि बैंक में जमा पैसा कितना सुरक्षित है?

दरअसल, कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर उन्होंने एक पोस्ट देखा था जिस में दावा किया गया था कि अगर आप ने बैंक में अधिक रकम जमा कराया हुआ है, तो उसे निकाल लें क्योंकि देश में बैंक की हालत अच्छी नहीं है और कई बैंक दिवालिया हो सकते हैं. ऐसे में आप का पैसा डूब सकता है.

ये भी पढ़ें- दंतैल हाथी से ग्रामीण भयजदा: त्राहिमाम त्राहिमाम!

दूसरा एक पोस्ट था, जो यह दावा करता नजर आ रहा था कि बैंक में आप के भले ही लाखों रूपए जमा हैं, लेकिन यदि वह बैंक दिवालिया हो गया अथवा डूब गया तो आप को सिर्फ 1 लाख रूपए ही मिलेंगे.

तो फिर सचाई क्या है

यह अकेले जगदीश की चिंता नहीं, कई लोगों की है. सोशल मीडिया में आए इस तरह की खबर पर हालांकि आरबीआई ने सफाई दी और आगे आ कर खबरों को मनगढंत बताया.

मगर हद तो तब हो गई जब ओडिशा के एक सरकारी मुलाजिम ने सरकारी बैंकों में पैसा रखने के लिए आगाह किया है.

ओडिशा सरकार में प्रधान सचिव एकेके मीणा ने दरअसल कई विभागों को पत्र लिखा था. मुंबई के पीएमसी बैंक घोटाले व कुछ वित्तीय संस्थानों की खस्ता होती वित्तीय हालात के बाद मीणा के इस खत को ले कर सनसनी भी फैल गई, जिस में उन्होंने कहा था कि अगर कोई विभाग किसी बैंक में पैसा जमा करता है तो यह उस की खुद की व्यक्तिगत जिम्मेदारी होगी.

ये भी पढ़ें- जेलों में तड़पती जिंदगी: भाग 1

आरबीआई ने जताया कड़ा ऐतराज

मीणा के इस पत्र पर आरबीआई ने कङा ऐतराज जताया और एक अधिकारी ने बयान जारी करते हुए कहा,”आप को यह जानना चाहिए कि किसी जिम्मेदार पद पर बैठा व्यक्ति अगर इस तरह की बात करता है तो आम जनता में भय का माहौल पैदा हो सकता है. इस का असर बैंकों को वित्तीय लेनदेन पर भी उठाना पङ सकता है.”

आननफानन में तब मीणा को भी सफाई देने के लिए आगे आना पङा. मीणा ने कहा,”राज्य सरकार प्रदेश में किसी भी बैंक की वित्तीय सेहत पर कोई विचार नहीं रखती.”

मीणा के पत्र पर हालांकि खूब बवाल भी मचा था पर उस वक्त उन्होंने कुछ अखबारों की खबरों की ओर भी ध्यान दिलाया था, जिन में बैंकों की वित्तीय सेहत खस्ता होने के बारे में बताया गया था.

वायरल सच क्या है

यह सही है कि बैंक अगर किसी मुसीबत में है अथवा किसी वित्तीय परेशानी में, तो वह आप के जमा किए गए रुपयों का इस्तेमाल कर सकता है.

लेकिन सच यह भी है कि अभी तक ऐसी कोई नौबत नहीं आई है कि बैंक जमाकर्ता को पैसा वापस न कर पाया हो.

ये भी पढ़ें- भारत में हर साल बर्बाद किया जाता है इतना भोजन, वहीं 82 करोड़ लोग सोते हैं भूखे

आमतौर पर जब भी किसी बैंक की वित्तीय सेहत बिगङने लगती है तो आरबीआई यानी भारतीय रिजर्व बैंक कई समाधान कर उसे संभाल लेता है.

जानिए आरबीआई के नियमों को

आप का पैसा बैंक में कितना सुरक्षित है, इस बात की पुष्टि आरबीआई के आधिकारिक वेबसाइट पर भी किया गया है. आप चाहें तो rbi.org.in पर लौगऔन कर वेबसाइट पर दिए गए नियम को देख सकते हैं.

इसलिए कह सकते हैं कि घर की तिजोरी से अधिक बैंक में जमा आप का पैसा अधिक सुरक्षित है.

ये भी पढ़ें- पाखंड की गिरफ्त में समाज

Tags:
COMMENT