राजस्थान का जैसलमेर जिला अपनी खास विशेषताएं रखता है. भारत वहां पोखरण इलाके में परमाणु बम का टैस्ट कर चुका है. जब जब देश पर संकट के बादल मंडराए, वहां के मुस्लिम एकजुट नजर आए और देशभक्ति दिखाई. वहां मुस्लिमों की तादाद लाखों में है. उनके अपने रिवाज हैं. शादियां अपने ही समाज में पैसे लेकर या दे कर की जाती हैं.

जिस शख्स के पास 4 बेटियां हैं, वह उन चारों की शादी जहां करता है, उन से लाखों रुपए लेता है. वहां बेटियों वाले लखपति माने जाते हैं.

ऐसे भी लोग हैं, जो बेटी का एक रुपया भी लड़के के पक्ष से नहीं लेते हैं. वैसे, इतने रुपए दे कर की गई शादियां कभी टूटती नहीं.

पुलिस के एक रिकौर्ड के मुताबिक, जैसलमेर में 17 जून तक तीन तलाक का एक भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ. यहां जो जीवनसाथी बन गया, वही ताउम्र मंजूर होता है.

ऐसे समाज में जब तीन तलाक का एक केस चर्चा में आया, तो जैसलमेर जिले में मानो भूचाल सा आ गया. लोग सकते में आ गए. वे कहने लगे कि यह सब टैलीविजन की देन है.

नगीना, जो गफूर भट्टा, जैसलमेर में अपने अब्बा के घर ससुराल जोधपुर से आई थी, को जुलाई, 2017 के दूसरे हफ्ते में पति अब्दुल ने फोन पर तीन तलाक कह दिया और पतिपत्नी का रिश्ता 3 सैकंड में तोड़ दिया.

नगीना की अम्मी सायरा पिछले एक साल से मायके बैठी नगीना और उस की फूल सी मासूम बेटी को देख देख कर अंदर ही अंदर घुल रही थीं. नगीना के अब्बा बीमार रहने लगे थे.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरस सलिल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...