क्रिकेट में किसी भी खिलाड़ी की तुलना करना बेमानी होती है. इससे इतना नुकसान होता है कि खिलाड़ी का करियर भी तबाह हो जाता है.