बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रह चुके तेज प्रताप यादव ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या के साथ तलाक लेने के मामले में परिवार वालों, अपने शुभचिंतकों और दोस्तों तक की बातें नहीं सुनीं और अपने फैसले पर ही अडिग रहे. 29 नवंबर, 2018 को परिवार कोर्ट, पटना में अर्जी पर सुनवाई हुई, जहां तेज प्रताप यादव खुद हाजिर हुए.

एकांत में सुनवाई करते हुए सवालजवाब के बाद जज उमाशंकर द्विवेदी ने ऐश्वर्या को अदालत में खुद हाजिर होने या वकील के जरीए हाजिर होने का नोटिस दिया. अदालत ने ऐश्वर्या को 8 जनवरी, 2019 को कोर्ट में हाजिर होने का समय दिया. वहीं तेज प्रताप यादव को नोटिस दे कर इस मामले में जरूरी परिपत्र पेश करने का निर्देश दिया.

तेज प्रताप यादव की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट के वकील अमित खेमका, पटना के वकील यशवंत कुमार शर्मा और विवेकानंद मलिक थे.

जज ने तेज प्रताप यादव से 5 मिनट तक सवालजवाब किए. पेशी के बाद तेज प्रताप यादव ने कहा, ‘‘मैं अपने पुराने स्टैंड पर कायम हूं. पीछे नहीं हटूंगा.’’

तेज प्रताप यादव की शादी को 6 महीने भी नहीं गुजरे थे कि उन्होंने अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक के लिए पटना सिविल कोर्ट में अर्जी दाखिल कर दी. इस की वजह से लालू प्रसाद यादव के परिवार में कुहराम मच गया है. तेज प्रताप यादव को समझाने की हर कोशिश नाकाम सी दिख रही है. तेज प्रताप यादव अपनी बातों पर अडिग हैं और बोल रहे हैं कि वे घुटघुट कर नहीं जी सकते.

6 महीने पहले हुई थी शादी

12 मई, 2018 को तेज प्रताप यादव की शादी बिहार सरकार में मंत्री रह चुके और वर्तमान विधायक चंद्रिका प्रसाद की बेटी ऐश्वर्या के साथ हुई थी. ऐश्वर्या बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके दरोगा राय की पोती हैं.

तेज प्रताप यादव विधायक हैं और बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ महागठबंधन में स्वास्थ्य मंत्री के पद पर भी रह चुके हैं.

इस शादी समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके अखिलेश यादव, उन की पत्नी डिंपल यादव, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान समेत काफी तादाद में जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी व आम नागरिक शामिल हुए थे.

ऐश्वर्या पर लगाए आरोप

पटना सिविल कोर्ट के चीफ जस्टिस उमाशंकर द्विवेदी की फैमिली कोर्ट में तेज प्रताप यादव ने तलाक की अर्जी दाखिल कर दी है. यह मामला हिंदू मैरिज ऐक्ट 13(1ए) के तहत दायर किया गया है, जिस का केस नंबर 1208/2018 है.

तेज प्रताप यादव ने ऐश्वर्या पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. जैसे ऐश्वर्या मुझे तेजस्वी से लड़ाना चाहती थी. वह कहती थी कि तेजस्वी तुम से जलता है. 2 जून, 2018 को ऐश्वर्या ने कहा था कि तुम्हारे यहां सब गंवार हैं. 9 और 11 जून को आपस में लड़ाई हुई थी. जुलाई और अगस्त में भी लड़ाई हुई थी. दोनों ने एकदूसरे पर पानी फेंक दिया था. मारपीट भी हुई थी.

ऐश्वर्या अपने पिता को छपरा लोकसभा से टिकट दिलवाने के लिए दबाव बना रही थी. वह कानूनी मामले में फंसाने की बात भी कहती थी. मीसा ने जब समझाने की कोशिश की तो उस ने कहा कि तुम समझाने वाली कौन होती हो.

तेज प्रताप यादव की तरफ से अदालत में याचिका दायर करने वाले वकील यशवंत कुमार शर्मा के मुताबिक, हिंदू विवाह अधिनियम की धारा 13ए के तहत तलाक मांगा गया है जिस में पति या पत्नी दोनों में से एक एकतरफा तरीके से तलाक मांग सकता है. तेज प्रताप यादव और उन की पत्नी ऐश्वर्या के बीच तालमेल नहीं है और इसलिए वे तलाक चाहते हैं.

तलाक के मामले में तेज प्रताप यादव का कहना है, ‘‘मैं घुटघुट कर नहीं जी सकता. मैं ने अपने मातापिता को भी बताया था कि अभी मेरी शादी करने की इच्छा नहीं है, लेकिन किसी ने मेरी बात नहीं सुनी.

सरस सलिल विशेष

‘‘हमारी जोड़ी सही नहीं मिली. मैं साधारण आदमी हूं और वे दिल्ली में पढ़ीलिखी बड़ी हुई महानगरीय जिंदगी जीने वाली असाधारण और आधुनिक महिला हैं.

‘‘मैं तो शादी नहीं करना चाहता था. मैं धार्मिक आदमी हूं. मम्मीपापा ने मुझे फंसा दिया. वे कहते थे कि शादी कर लो, नहीं तो यह हो जाएगा, वह हो जाएगा. मैं ने घर वालों के कहने पर शादी की लेकिन अब घुटघुट कर नहीं जी सकता.

‘‘मैं नार्थ पोल हूं और ऐश्वर्या साउथ पोल है. प्रधानमंत्री भी आ जाएं तो मैं अपने फैसले से पीछे नहीं हटूंगा.’’

डिलीट किया फोटो

सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले तेज प्रताप यादव ने तलाक की अर्जी देने से पहले ही अपने इंस्टाग्राम और ट्विटर से ऐश्वर्या का फोटो डिलीट कर दिया.

सोशल मीडिया पर तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या के एक फोटो को खूब लाइक्स और कमैंट मिले थे जिस में साइकिल पर तेज प्रताप यादव और ऐश्यर्या बैठे थे. दोनों एकदूसरे को प्यारभरी नजरों से देख रहे थे. दोनों की उस बेहद रोमांटिक तसवीर को काफी पसंद किया गया था. लोगों ने बेहद खूबसूरत बताते हुए इस फोटो को शेयर किया था.

एक यूजर ने यह भी लिखा था,” यह काफी अजीब है कि एमेटी यूनिवर्सिटी से एमबीए की ऐश्वर्या 12वीं पास तेज प्रताप के गले से बांध दी गई.”

किसने क्या कहा

तेज प्रताप के छोटे भाई और उपमुख्यमंत्री रह चुके तेजस्वी यादव ने कहा है कि यह परिवार का आपसी मामला है और पारिवारिक मामले को सार्वजनिक नहीं किया जाना चाहिए.

राजद के वरिष्ठ नेता और लालू परिवार के शुभचिंतक रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि तेज प्रताप की तलाक याचिका राजनीतिक रूप से प्रभावित नहीं करेगी. उदाहरण के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पत्नी को छोड़ दिया, फिर भी वे देश के प्रधानमंत्री बने.

मनाने की कोशिश जारी

तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या के बीच तलाक की खबर फैलते ही दोनों सियासी परिवारों के बीच सुलह की कोशिश शुरू हो गई है.

लालू परिवार का हर सदस्य ऐश्वर्या के साथ है. वे लोग चाहते हैं कि किसी तरह मामला शांत हो जाए. लालू प्रसाद यादव ने रिम्स अस्पताल, रांची में 3 घंटे तक समझाने की कोशिश की.

तेज प्रताप यादव यह भी बोल रहे हैं कि उन के परिवार के सदस्य ऐश्वर्या को सपोर्ट कर रहे हैं. तेज प्रताप की हिम्मत ऐश्वर्या के सामने कुछ भी कहने की नहीं है.

तेज प्रताप यादव कभी बोधगया तो कभी चुपके से बनारस के विश्वनाथ मंदिर और मथुरा के मंदिरों और गलियों में कृष्ण के रोल में बांसुरी बजाते, पूजा करते देखे गए हैं. दर्शन के बहाने वे भागते चल रहे हैं. वे मीडिया वालों से भी आंख मिलाने में कतरा रहे हैं.

सोशल मीडिया भी नाकाम

सोशल मीडिया से भी तेज प्रताप यादव को समझाने की कोशिश लोगों ने की. जब तेज प्रताप ने लिखा कि टूटे से फिर न जुड़े, जुड़े गांठ पड़ जाए. इस पर रिंटू यादव ने लिखा कि सोना और सज्जन लाख बार टूटे और जुड़े.

रजनीकांत ने लिखा कि सुबह का भूला अगर शाम को घर आ जाए तो उसे भूला नहीं कहा जा सकता.

आनंदी देवी यादव ने कहा कि शादी होने के बाद थोड़ीबहुत खटपट तो होती है लेकिन समस्याओं का समाधान भी है. समस्याओं से भागना समाधान नहीं है.

लोगों ने पिता की बीमारी और पार्टी की जरूरत का हवाला दे कर भी लिखा, लेकिन इस का भी तेज प्रताप यादव पर कोई असर नहीं हुआ. उन की मां राबड़ी देवी, भाई तेजस्वी यादव, सास पूर्णिमा राय लगातार कोशिश कर रहे थे कि संबंध सामान्य हो जाएं.

राबड़ी देवी के बंगले से तेज प्रताप यादव की सास पूर्णिमा राय को रोते हुए निकलते देखने से साफ हो गया था कि हालात सामान्य होने की दूरदूर तक उम्मीद नहीं है.

समाजसेवी अभय कुमार पिंटू ने आरोप लगाया है कि इस मामले में ऐश्वर्या का क्या कहना है, मीडिया में उस की बातें नहीं आ रही हैं, जबकि ऐश्वर्या से मीडिया वालों को मिलने ही नहीं दिया जा रहा है.

Tags:
COMMENT