जाने कब से चली आ रही  प्रथा छत्तीसगढ़ स्थापना के 20 वर्ष पूर्ण होने के बाद भी आज  नासूर बनी हुई है. परिणाम स्वरूप जाने कितनी महिलाएं गांव में आत्महत्या कर लेती हैं, अथवा बीच चौराहे पर मार दी जाती हैं.कभी यह घटनाक्रम प्रकाश में आता है और कभी छुपा दिया जाता है.

ऐसे ही एक अत्यंत संवेदनशील मामले में न्यायधानी कहे जाने वाले बिलासपुर की कोनी थाना पुलिस ने महिला को टोनही कहकर प्रताड़ित कर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने की आरोपी महिला सहित 5 लोगों को गिरफ्तार कर यह संदेश प्रसारित कर दिया है कि ऐसे अनर्गल और महिलाओं को परेशान करने वाले मसले पर छत्तीसगढ़ पुलिस कठोर मुड़ में है.

कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम पौंसरा में बजरंग चौक निवासी राशि सिंह ने 9 जून 2021 को अपने ऊपर मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली थी. गंभीर रूप से झुलसी अवस्था मे उसे सिम्स में भर्ती किया गया. पीड़िता ने अपने बयान में कहा कि  पड़ोसी उसे टोनही कहकर प्रताड़ित करते  रहे है. और उसने, उनकी प्रताड़ना से परेशान होकर आग लगाकर खुदकुशी का प्रयास करने की बात अपने इकबालिया बयान में कही.

ये भी पढ़ें- Crime- लव में धोखा: कौन है दोषी?

पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने महिला संबंधी इस गंभीर अपराध को संज्ञान में लेते हुए त्वरित करवाई का निर्देश दिया. परिणाम स्वरूप यह मामला कहीं फाइलों में छुप जाता, बाहर आ गया. और कोनी पुलिस ने  करवाई कर  10 जून को आरोपी राजू सिंह पिता सुखनंदन , सती बाई पति बलराम ठाकुर , भरत सिंह पिता विजय सिंह , जागेश्वर सिंह पिता सुखनंदन सिंह , करतार सिंह पिता सुखनंदन सिंह  को गिरफ्तार कर टोनही प्रताड़ना एक्ट के तहत न्यायालय में पेश कर दिया.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT