धर्म के नाम पर हमारे देश में धन के साथ-साथ तन की भी लूट मची हुई है. इसके अनेक उदाहरण के अब किसी सबूत के मोहताज नहीं हैं. लोग धार्मिक जगहों पर बाबाओं के पास श्रद्धा के वशीभूत पहुंच जाते हैं और कई दफे अपनी जिंदगी बर्बाद करते चले जाते हैं. एक तरफ यह सच्चाई, तथ्य बारंबार सामने आता रहा है दूसरी तरफ यह भी सच है कि ऐसे ढोंगी बाबाओं की कमी नहीं है और यह बदस्तूर जारी है.

जनवरी के पहले पखवाड़े मे छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर से महज सत्तर किलोमीटर दूरी पर स्थित बलौदाबाजार जिले के कसडोल थाना क्षेत्र में एक ‘बाबा’ पर उसी के आश्रम में रहने वाली कई युवतियों ने अश्लील हरकतें का आरोप लगाया है. और पुलिस ने उसे अपनी गिरफ्त में लिया है. बाबा के नाम पर अश्लीलता का चोला धारण करने वाले बाबा का नाम रजनीश है जिसके छत्तीसगढ़ में कुछ आश्रम भी चल रहे हैं. यह लंबे समय से आश्रम के आड़ में यही कुत्सित काम कर रहा था. पुलिस के पास इस कथित बाबा की अनेक शिकायते दर्ज थी और अंततः वही हुआ जो होना था बाबा के पाखंड का घड़ा फूट गया और तो और युवतियों ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष शिकायत दर्ज कराई.

ये भी पढ़ें- ड्राइवर बना जान का दुश्मन

रात को आश्रय मे दबोचा

जब लगातार बाबा के खिलाफ शिकायत मिलने लगी तब पुलिस ने विगत 13 जनवरी की देर रात “सत्संग शिविर” में दबिश देकर बाबा को गिरफ्तारी किया और पूछताछ की गई. पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस कथित आरोपी बाबा का नाम रजनीश है और यह उत्तरप्रदेश के बाराबंकी जिले का मूल निवासी है. कई वर्ष पूर्व यह छत्तीसगढ़ आ पहुंचा और लोगों को भ्रमित कर अपने जाल में फंसा में फंसा कइ आश्रम खोल लिए है. आश्रम में युवतियों को प्राथमिकता दी जाती थी अब खुलकर जो तथ्य सामने आ रहे हैं उसके अनुसार बाबा रजनीश ओशो रजनीश से कुछ ज्यादा ही प्रभावित थे और उन्हीं की पगडंडी पर चलते चलते दिशा भटक गए. इस बाबा की खासियत यह बताई जा रही है कि यह ग्रामीण अंचल में अपना संजाल फैला रहा था और ग्रामीण युवतियों पर डोरे डालाता था जिसका मूल कारण यह था कि ग्रामीण अंचल की जनता जल्दी से थाना पुलिस नहीं करती और बाबा का धंधा चलता रहता.

तीन आश्रम खोल लिए…

बाबा रजनीश ने देखते ही देखते छत्तीसगढ़ में तीन जगह जांजगीर जिला के धनपुरी, देवरी और बलौदा बाजार जिले के झबड़ी गांव में अपने आश्रम खोल लिए. बाबा का आश्रम संचालित है.कसडोल थाना क्षेत्र के ग्राम  झबड़ी स्थित उसी के आश्रम में रहने वाली युवतियों के साथ ईश्वर दर्शन कराने के नाम पर अश्लीलता करता था. जिसकी शिकायत कई बार पीड़िताओं ने करनी चाही, लेकिन बाबा उन्हें डरा धमका देता था. अंततः बाबा की हरकतों से तंग आकर पीड़ितलडकियों ने 24 दिसंबर 2019 को कसडोल थाने में शिकायत दर्ज कराई . साथ ही जिले के पुलिस अधीक्षक के पास भी शिकायत की गई. जिसके बाद पुलिस मामले को गंभीरता से लेने को मजबूर हो गई और बीती रात कसडोल ब्लाक के खैरा गांव. में चल रहे बाबा के सत्संग शिविर में अनुविभागीय दंडाधिकारी टीसी अग्रवाल और  अनुविभागीय अधिकारी( पुलिस) राजेश जोशी ने अपने टीम के साथ दबिश दी. वहां से गिरफ्तार कर आरोपी बाबा राजनीश को थाने ले आया गया . बाबा की इस गिरफ्तारी के तारतम्य में एसडीएम टी .सी. अग्रवाल ने हमारे संवाददाता को बताया कि तीन युवतियो ने बाबा के खिलाफ शिकायत के बाद कारवाई हुई है.

ये भी पढ़ें- प्यार में जब खेला गया अपहरण का खेल

Tags:
COMMENT