फिल्म ‘‘नमस्ते इंग्लैंड’’ बेसिर पैर की कहानी व अविश्वसनीय घटनाक्रमों से सजी फिल्म है. फिल्म का एक भी दृश्य या पल तार्किक नही लगता.