श्वेता की नौकरी को आज पूरे 2 साल हो गए थे, पर वही तनख्वाह, वही ओहदा, कोई तरक्की नहीं.