कपिल का नईनवेली पत्नी को छोड़ कर ड्यूटी पर जाने का जरा भी मन नहीं था. शादी के लिए उस ने कंपनी से एक महीने की छुट्टी ली थी. शादी के बाद पत्नी की खूबसूरती में वह कुछ इस तरह खो गया कि कब 2 महीने बीत गए, उसे पता ही नहीं चला. जब कंपनी के मैनेजर ने फोन पर कपिल को चेतावनी दी कि अगर एक हफ्ते के अंदर उस ने ड्यूटी जौइन नहीं की, तो उसे नौकरी से बरखास्त कर दिया जाएगा. तब उस की आंखें खुलीं. अब तो उस का नौकरी पर जाना जरूरी था.

घर से विदा लेते समय कपिल ने पत्नी से कहा, ‘‘तुम चिंता मत करो. दिल्ली जा कर सब से पहले एक बड़ा मकान किराए पर लूंगा, फिर तुम्हें बुला लूंगा.’’

कपिल बलिया के एक गांव का रहने वाला था. उस के पिता चाय की दुकान चलाते थे. गांव के स्कूल में 9वीं जमात फेल हो जाने के बाद कपिल का मन पढ़ाई से हट गया, तो उस ने नौकरी करने का मन बना लिया. कुछ दिन बाद नौकरी की तलाश में वह दिल्ली चला गया.

15 दिन भटकने के बाद उसे एक प्राइवेट कंपनी में डिलीवरी बौय की नौकरी मिल गई. रहने के लिए उस ने किराए पर छोटा सा मकान भी ले लिया. कपिल को जो कमरा मिला था, उस में पहले से ही 2 लोग रहते थे. जल्दी ही वह दोनों से घुलमिल गया.

कपिल के बोलचाल के ढंग की वजह से उसे लोग जल्दी दोस्त बना लेते थे. वह हमेशा साफसुथरा रहता था. थोड़ी वर्जिश भी वह करता था. कपिल को कंपनी से 8 हजार रुपए मिलते थे. 3 हजार रुपए वह अपने पिता को भेज देता था, बाकी रुपयों से अपना गुजारा कर लेता था. शादी के बाद कपिल से उस के पिता ने कहा था कि वह पत्नी को साथ में दिल्ली ले जाए. पत्नी भी उस के साथ रहना चाहती थी.

ये भी पढ़ें- अंधा मोड़ : सौरभ से कैसे बच पाई माधवी

मगर कपिल पत्नी को साथ कैसे ले जा सकता था. जब वह कुंआरा था, तो 5 हजार रुपए में गुजारा कर लेता था. दोस्तों के साथ एक ही कमरे में रह लेता था. पत्नी को साथ में रखने के लिए एक कमरा तो अलग से चाहिए ही था. रुपए भी कुछ ज्यादा चाहिए थे.

कपिल भी पत्नी से प्यार करता था. वह खुद उस के बिना नहीं रहना चाहता था. वह उसे अपने साथ रखना चाहता था, इसलिए पहले ज्यादा तनख्वाह वाली नौकरी ढूंढ़ने लगा. उस ने सोचा कि एक कमरा किराए पर ले कर पत्नी को बुला लेगा. वह कम से कम 12 हजार रुपए की नौकरी पाना चाहता था.

मनपसंद नौकरी की तलाश में दरदर भटकता हुआ कपिल एक दिन मोहिनी की दुकान में गया. उस की कपड़े की दुकान थी. उस समय मोहिनी दुकान में मौजूद थी. कपिल के बात करने के तरीके से मोहिनी प्रभावित हो गई. उस ने कपिल का मोबाइल नंबर यह कहते हुए ले लिया कि जगह खाली होते ही वह उसे बता देगी.

कपिल को जरा भी विश्वास नहीं था कि मोहिनी की दुकान में उसे नौकरी मिलेगी. हैरानी तो कपिल को तब हुई, जब 5-6 दिन बाद मोहिनी ने फोन किया और इंटरव्यू के लिए उस ने रात के 8 बजे अपनी दुकान पर बुलाया. कपिल ठीक समय पर मोहिनी की दुकान में पहुंच गया. मोहिनी ने कहा कि वह दुकान बंद कर रही है, इसलिए घर चलो. उस का मकान बड़ा था. वहां कोई और नहीं था.

मकान का दरवाजा खुद मोहिनी ने खोला था. मोहिनी ने उसे बताया कि उस की पार्टटाइम नौकरानियां हैं. कपिल से उस के घरपरिवार की जानकारी लेने के बाद मोहिनी ने कहा, ‘‘तुम्हारी काबिलीयत के मुताबिक कोई भी तुम्हें 10 हजार से ज्यादा की नौकरी नहीं देगा.

‘‘मैं तुम्हें 15 हजार रुपए हर महीने की नौकरी दे सकती हूं, अगर तुम मेरी बात मान लोगे.’’

‘‘कौन सी बात मैडम?’’

‘‘बात यह है कि तुम मेरे दिल में बस गए हो. एक रात के लिए तुम्हें अपना बनाना चाहती हूं.’’

कपिल को समझते देर नहीं लगी कि मोहिनी चरित्रहीन औरत है. कपिल पत्नी के साथ बेवफाई नहीं करना चाहता था. लेकिन सामने औरत को देख कर वह नौकरी के लालच में आ गया. यह सोच कर उस ने मोहिनी की बात मान ली कि सिर्फ एक रात की बात है. उस के बाद वह पत्नी के साथ कभी बेवफाई नहीं करेगा. फिर वह मोहिनी के साथ बैडरूम में चला गया. अपने तन की आग बुझाने के बाद मोहिनी बाथरूम में चली गई. अगले दिन सुबह कपिल चला गया. मोहिनी ने उसे अपनी दुकान में नौकरी दे दी.

एक हफ्ते तक सबकुछ ठीकठाक चला. उस के बाद एक दिन दुकान पर मोहिनी ने कपिल से कहा, ‘‘रात के 10 बजे मेरे घर आ जाना. मुझे कुछ जरूरी बात करनी है.’’ मोहिनी उस दिन भी घर पर अकेली थी. वह उसे सीधे बैडरूम में ले गई. अब कपिल को यह समझते देर नहीं लगी कि मोहिनी ने उसे अपने घर क्यों बुलाया है.

‘‘आप चाहें तो नौकरी से निकाल दीजिए. मगर अब मैं पत्नी के साथ विश्वासघात नहीं करूंगा,’’ कपिल ने अब अपना फैसला सुना दिया.

ये भी पढ़ें- चंपा लौट आई : एहसान और बदले की कहानी

मोहिनी ने कपिल को तरहतरह से समझाने की कोशिश की, मगर वह नहीं माना. कपिल जब वहां से जाने लगा, तो मोहिनी ने कहा, ‘‘मेरा कहा नहीं मानोगे, तो तुम्हें मेरा रेप करने के आरोप में जेल जाना होगा.’’

‘‘मैं पुलिस को सुबूत दूंगी कि तुम ने मेरा रेप किया है. तुम्हें मेरी बात पर यकीन नहीं है, तो खुद यह वीडियो देख लो.’’ मोहिनी ने कपिल को एक वीडियो दिखाया. उस में वह उस के साथ बिस्तर पर था. मोहिनी की चाल कपिल समझ गया. उस के जाल से निकलने का उस के पास कोई रास्ता नहीं था, इसलिए उस की बात उस ने मान ली.बात यह थी कि पहले दिन मोहिनी ने कपिल को साथ सोने के लिए जब कहा था, तो उस ने यह वीडियो तैयार कर लिया था. मजबूर हो कर कपिल को मोहिनी की सारी बात मान लेनी पड़ी.

दोस्तों का साथ छोड़ कर वह मोहिनी के मकान में असिस्टैंट बन कर रहने लगा. मोहिनी के कहने पर उस ने दोस्तों के साथसाथ पत्नी और अपने घर वालों से भी नाता तोड़ लिया. पिता को रुपए भेजना भी उस ने बंद कर दिया था.

मोहिनी ने उस से कहा था कि उस का सारा रुपया वह 2-3 साल बाद एकसाथ देगी, जिस से वह खुद का अपना कोई कारोबार कर सके. मोहिनी की बात मानने के सिवा कपिल के पास कोई रास्ता नहीं था. वैसे, उसे विश्वास था कि मोहिनी उस के साथ विश्वासघात नहीं करेगी.

बात यह थी कि मोहिनी के पति की मौत तकरीबन 5 साल पहले एक सड़क हादसे में हो गई थी. उस समय उस का बेटा आकाश 4 साल का था. पति की मौत के बाद मोहिनी कपड़े की दुकान की मालकिन हो गई

उस के मातापिता ने उसे दूसरी शादी करने की सलाह दी थी, मगर उस ने दूसरी शादी करने से मना कर दिया. वह आकाश की परवरिश करते हुए अपनी जिंदगी गुजार देना चाहती थी. पति की यादों के सहारे मोहिनी ने 2 साल तो गुजार दिए, उस के बाद अचानक उसे लगने लगा कि मर्द के बिना वह नहीं रह सकती है.

जवानी की भूख जब उसे ज्यादा सताने लगी, तो एक दिन उस ने पड़ोस के एक लड़के से संबंध बना लिया. आकाश को उस की सचाई का पता न चल सके, इसलिए उस ने उसे होस्टल में दाखिल कर दिया. वह उसे घर पर सिर्फ छुट्टियों पर लाती थी. 2 साल तक वह लड़का मोहिनी के हुस्न से बंधा रहा. उस के बाद उस की शादी हो गई, तो उस ने संबंध तोड़ लिया. फिर मोहिनी ने कपिल को फांसा. कपिल उस के चंगुल से कभी न निकल सके, इसीलिए उस ने अपनी और उस की एक वीडियो क्लिप भी बना ली थी.

पुलिस का डर दिखा कर मोहिनी ने कपिल को अपने वश में तो कर ही लिया था. इस के अलावा उस ने उसे शराब की लत भी लगा दी थी. कपिल को भी ऐशोआराम की यह जिंदगी अच्छी लगने लगी थी. इस तरह एक साल बीत गया. एक दिन मोहिनी ने कपिल से पूछा, ‘‘तुम्हें मेरे साथ कैसा लगता है?’’

‘‘बहुत अच्छा.’’

‘‘तुम सारी जिंदगी मेरे साथ रहोगे न?’’

‘‘यह भी कोई पूछने वाली बात है. अब तो मैं आप के बिना रह ही नहीं सकता.’’

‘‘जैसा मैं कहूंगी, वैसा करोगे न?’’

‘‘जरूर करूंगा.’’

‘‘बात यह है कि मेरे हुस्न पर एक अमीर शादीशुदा लड़का फिदा हो गया है. मैं उस से संबंध बना कर लाखों रुपए ऐंठना चाहती हूं.’’ कुछ सोचने के बाद कपिल ने कहा, ‘‘आप जो चाहें कर सकती हैं. मैं आप का कोई विरोध नहीं करूंगा. बस इतना खयाल रखिएगा कि कभी मुझे अपने से जुदा न कीजिएगा.’’

ये भी पढ़ें- नेवीब्लू सूट : दोस्ती की अनमोल कहानी

‘‘तुम्हें अपने से जुदा करने की तो मैं कभी सोच भी नहीं सकती, क्योंकि तुम मेरी धड़कन बन गए हो. ‘‘तुम मेरे बताए रास्ते पर चुपचाप चलते जाना. देखना, जल्दी ही हम दोनों के पास करोड़ों की जायदाद होगी. वह जायदाद सिर्फ मेरे नाम नहीं, तुम्हारे नाम भी होगी.’’

अगले दिन मोहिनी अपने साथ एक लड़के को ले कर घर पर आई. योजना के मुताबिक कपिल ने वीडियो बनाने की पूरी तैयारी कर ली थी. कपिल ने मोहिनी और उस लड़के का वीडियो बना लिया था. उस वीडियो के बल पर मोहिनी ने उस लड़के से बहुत दिनों तक रुपए ऐंठे. उस के बाद मोहिनी ने दूसरे लड़के को फांसा, फिर तीसरे और…

एक दिन जब कपिल दुकान से निकल रहा था, तो पुलिस जिप्सी आई और उसे गिरफ्तार कर लिया. मोहिनी ने उस पर रेप का केस कर दिया था. कई महीनों तक वह जेल में रहा, पर मोहिनी ने दया कर के उस को छुड़वा दिया, पर यह वादा ले कर कि वह कभी पास नहीं आएगा.

कपिल के पास न अब पत्नी है, न पिता हैं, न मोहिनी जैसी औरत. वह मजदूरी कर के किसी तरह मौत का इंतजार कर रहा है.

Tags:
COMMENT