14 अप्रैल को देशभर में अंबेडकर जयंतियां मनाई गईं और दलित वोटों के खिसकने के डर की वजह से भारतीय जनता पार्टी ने कुछ ज्यादा जोरों से अंबेडकर की मूर्तियों को मालाएं पहनाईं. दलितों के एकलौते देवता के रूप में भीमराव अंबेडकर भी भारतीय जनता पार्टी के ही चेले थे, यह साबित करने की पूरी कोशिश राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, संघ प्रमुख से ले कर हर जिले के भाजपा अध्यक्ष ने की.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
COMMENT