बिहार के गया जिले के एक गांव में एक दलित बूढ़े जोड़े को पीटपीट कर मार डाला, क्योंकि उन का 20 साल का नाती एक पिछड़ी जाति की लड़की के साथ भाग गया था. जाहिर है कि मामला प्रेम का है, पर चूंकि पिछड़ी जाति की लड़की अछूत के लड़के के साथ भाग जाए, यह आज भी गांवों में ही नहीं, बल्कि शहरों में भी सहन नहीं होता. जाति का जहर इस कदर रगरग में भरा है कि चाहे दलित और पिछड़े दोनों ही जाति के कहर के शिकार क्यों न रहे हों, पिछड़ों को आज भी यह मंजूर नहीं कि कोई दलित उन की बराबरी करे या उन से रोटीबेटी का नाता जोड़े.

शहरों में यह बात गुपचुप होती है. यदि लड़की को दलित लड़के से प्यार हो जाए, तो उस के घर वाले मारने की नहीं तो मरने की धमकी दे कर लड़की को मजबूर कर देते हैं कि वह नाता तोड़ दे.

यह तो पक्का है कि जब दलित और उस से ऊंची जाति वालों में प्यार होता है, तो दोनों का रहनेखाने का तरीका एक सा होगा. कम ही मामलों में बहुत गरीब का बहुत अमीर से प्यार फलता है. अगर ऐसे में दोस्ती हो भी जाए, तो उसे टूटते देर नहीं लगती. लड़की और लड़के के दोस्त ही पहले दोनों को अपनीअपनी जातियां बता देते हैं और आमतौर पर ऊंची जाति वाले दोस्त नीची जाति वाले लड़के या लड़की से दोस्ती तोड़ लेते हैं.

अगर दोस्तों की अड़चन पार कर के प्यार करने वाले आगे बढ़ जाएं, तो भी मुसीबतें कम नहीं होतीं. अगर दोनों कमाऊ हों तो ही वे अपने फैसले पर टिक सकते हैं. मातापिता के बलबूते तो इस तरह का प्यार टिक ही नहीं पाता.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरस सलिल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...