धार्मिक अंधश्रद्धा वाले लोग महिमामंडन कर के ऐसे धर्मगुरुओं को समाज के सिर पर बैठा देते हैं. लेकिन जब कभी उन की हकीकत सामने आती है तो पछताने के अलावा कुछ नहीं बचता. जैन मुनि शांति सागर की भी यही कहानी है.
'सरस सलिल' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now