लेखक- छत्तीसगढ़/सुरेशचंद रोहरा

शहर हो या गांव चिकित्सा के नाम पर झाड़-फूंक ओझा गिरी और कभी चिकित्सा,  कभी ज्योतिष के नाम पर महिलाओं का दैहिक शोषण करने वाले नर पिशाच कम नहीं है. यह एक ऐसा पेशा बन चुका है जिसकी आड़ में अक्सर महिलाऔ के साथ यौन शोषण होता रहता है. ऐसी ही घटनाएं छत्तीसगढ़ के जिला कोरबा और जिला चांपा जांजगीर में घटित हुई है.

चांपा जांजगीर जिला के बम्हनीडीह थाना क्षेत्र के ग्राम पीपरदा में बद्री पटेल 30 वर्ष से अधिक समय से आसपास के लोगों का इलाज करता आ रहा था. इलाज के नाम पर झाड़-फूंक करना और मनोवैज्ञानिक ढंग से अशिक्षित गरीब आवाम को मूर्ख बनाना  पैसे ऐठना उसका काम था. इसके साथ ही इलाज के दरमियान मानसिक रूप से टूट चुके लोगों की आस्था और विश्वास का लाभ उठा वह महिलाओं, लड़कियों के साथ यौन शोषण करने लगा.

ये भी पढ़ें- सिरकटी लाश ने पुलिस को कर दिया हैरान

मामले पर से पर्दा 18 जून 2019 को उठा,जब चांपा जांजगीर जिला के नगरदा थाना की एक युवती इलाज के लिए बद्री पटेल के पिपरदा स्थित आवास पर पहुंची. युवती प्रभा ( काल्पनिक नाम ) अपने परिजनों के साथ पहुंची तो तो बद्री पटेल के घर पर इलाज कराने वालों की भीड़ जुटी हुई थी आस -पास के अनेक लोग जो की अधिकांश ग्रामीण अंचल के ही थे और जो चिकित्सकों बड़े -बड़े डॉक्टरों की फीस अदा करने में लाचार से यहां आए हुए थे.

प्रभा और उसके परिवार वालों ने सुना था बद्री पटेल लंबे समय से इलाज करता चला आ रहा है और उसके पास ऐसी दैविय शक्ति है कि झाड़-फूंक कर जो भी चीज देता है उसका सेवन करने से रोगी स्वस्थ हो जाता है. प्रभा को डौक्टरों ने किडनी प्रॉब्लम बताया था जो बहुत खर्च मांगता था और उसका मध्यवर्गीय परिवार किडनी के इलाज का लाखों रुपए खर्च करने बखत नहीं रखता था. सो बडी बड़ी आशा विश्वास लेकर बद्री पटेल के आवास पहुंचा था.

पूर्व मैं आ चुके मरीजों का यथा इलाज करके बद्री पटेल ने प्रभा की ओर रुख किया और पूछा – तुम्हें कैसा लग रहा है?

प्रभा  जैसा जवाब डौक्टरों को देती थी वैसा ही बताया बहुत कमजोरी हो गई है…

परिजनों ने भी बद्री पटेल को बताया डॉक्टर बता रहे हैं किडनी प्रौब्लम है… हम लोग बड़ा नाम सुनकर आपके पास आए हैं.

बद्री पटेल ने प्रभा की आंखें, नब्ज देखने के बाद घोषणा की-चिंता की कोई बात नहीं… मे इस लड़की को ठीक कर दूंगा.

उसके परिजनों ने यह सुना तो उनके चेहरे खिल उठे. बद्री पटेल बोला-मुझे इसके लिए साधना करनी होगी कुछ समय लड़की के साथ कमरे में एकांत में रहना होगा. यह ठीक हो जाएगी.

बद्री पटेल से प्रभावित परिजनों ने तत्काल स्वीकृति दे दी. वहीं पास के कमरे में प्रभा को ले गया और कमरा बंद कर दिया और उसके बाद उसने अपना असली चेहरा दिखाना प्रारंभ कर दिया. प्रभा को इलाज के नाम पर बहला फुसलाया और ठीक करने का आश्वासन देते हुए उसके कपड़े उतारने लगा.थोड़ी ही देर में वह समझ गई कि बुड्ढे की नीयत ठीक नहीं है तो उसने प्रतिकार किया. यह देख बद्री बोला तुम्हें इलाज कराना है कि नहीं…. प्रभा सहम गई इधर बद्री पटेल ने फिर प्रभा के कपड़े उतारने प्रारंभ कर दिए प्रभा ने विरोध किया तो उसका मुंह दबा दिया टीवी शुरू कर दिया ताकि शोर बाहर ना पहुंचे. प्रभा के लाख मना करने के बाद भी बद्री पटेल ने प्रभा का बलात्कार किया और आश्वस्त करता हुआ बोला,- देखो… लड़की यह इलाज की शुरुआत है जो हुआ किसी को नहीं बताना….

ये भी पढ़ें- ‘लाइक’ के नाम पर 37 अरब की ठगी

मगर जैसे ही प्रभा परिजनों के बीच पहुंची उसने साथ आई अपनी भाभी से सारी घटना रोते हुए बता दी. बद्री पटेल के हाथ पांव फूल गए इधर परिजनों ने उसे बहुत गालियां दी और थाना पहुंच थाना प्रभारी राजेश श्रीवास्तव से पूरी घटना को विस्तार पूर्वक बताया. पुलिस ने बद्री पटेल को तत्काल हिरासत में ले लिया और प्रभा की चिकित्सालीय जांच कराई गई. बम्हनीडीह थाना प्रभारी राजेश श्रीवास्तव ने हमारे संवाददाता को बताया- बुजुर्ग बद्री लंबे अरसे से झाड़ फूंक और इलाज कर रहा था. उसकी कुछ शिकायतें और भी मिली थी मगर सबूतों के अभाव में कभी एक्शन नहीं लिया गया. लड़की किडनी प्रॉब्लम से जूझ रही है उसके परिजनों ने साहस का परिचय देते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई और पुलिस ने इलाज के नाम पर यौन शोषण करने वाले शख्स बद्री पटेल को जेल के सीखचों के पीछे भेज दिया है.

ऐसी ही घटना कोरबा जिला के कटघोरा थाना अंतर्गत ग्राम घरीपाखना में घटित हुई जहां एक झाड़ फूंक करने वाले बाबा बजरंगी दास ने झाड़-फूंक के नाम पर 6 वर्षों तक महिला के साथ अनाचार किया और जब महिला की नौकरी छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिला में लग गई तो उसकी नजर महिला की 16 वर्षीय लड़की पर गई जो कोरबा के हौस्टल में रहते हुए पढ़ाई कर रही थी. बजरंगी दास ने परिचय का लाभ उठाते हुए रमा  (काल्पनिक नाम)को अपने घर घुमाने के नाम पर ले गया और उसे डरा धमकाकर शारीरिक शोषण किया. महिला के घर लौटने पर रमा ने मां को सारी आपबीती बताई पीड़ित महिला बेटी को लेकर थाना कटघोरा पहुंची तो जांच के नाम पर उसे लौटा दिया अंततः महिला ने पुलिस अधीक्षक जिलाधीश से मिलकर संपूर्ण घटनाक्रम से अवगत कराया तब जाकर मामला दर्ज हुआ और बजरंगी को पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया.

ये भी पढ़ें- सस्ते मोबाइल फोन की खातिर ली महंगी जान

Tags:
COMMENT