नाबालिग रागिनी और राकेश एकदूसरे को दिलोजान से चाहते थे. रागिनी घर वालों के लाख समझाने पर भी नहीं मानी तो उस के भाई सिकंदर ने दोस्त कामदेव के साथ मिल कर रागिनी को ऐसी सजा दी कि...