इस के बाद वह बरतन धोने लगी. लगभग साढे़ 12 बजे मालकिन चिल्लाईं तो मैं वहां पहुंची. मैं ने देखा कि भाभी खिड़की से नीचे लटकी थीं.