अपराध के सारे दरवाजों की चाबियां भले ही अपराधियों के पास हों, लेकिन मुख्य चाबी पुलिस के पास होती है, जिस से पुलिस उन तक पहुंच ही जाती है. कुछ ऐसा ही 32 सालों से फरार चल रहे हत्या के शातिर अपराधी मौलाना करीम उर्फ आफताब उर्फ नाटे के साथ भी हुआ. इस अपराधी ने कानून के रखवालों को न जाने किसकिस घाट का पानी पिलाया था.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT