विवाह खुशी भी लाता है तो कई बार जिंदगी बिखर कर रह जाती है. आशीष और शीतल की कहानी कुछ ऐसी ही रही लेकिन इस कहानी का अंत अभी बाकी था.