हम खुश थे कि इस बार मेहमानों से पिंड छुड़ा ही लेंगे पर लाख कोशिशों के बावजूद हमारी गरदन उन से बच न सकी. ऊपर से बेशर्मी से वे हमें ऐसा चूना भी लगा गए कि हम तो बाज आए ऐसे मेहमानों से.