रूप और गुण की धनी थी सविता. घर के सभी सदस्य चाहते थे कि बहन शिखा की तरह वह भी अपनी गृहस्थी बसा ले. लेकिन सविता के शादी न करने के प्रण से सभी चिंतित थे. पर अचानक ऐसा क्या हुआ जिस ने उस के अस्तित्व को ही झकझोर दिया...