जिस त्रासदी से सत्या गुजर रही थी, उसी त्रासदी से उस की मां भी एक दिन गुजरी थीं, आखिर क्या थी वह त्रासदी? और किस तरह उन्होंने अपने को संभाला था?