33 वसंत देखने के बाद भी रूपा अविवाहित थी. सहारे की तलाश में भटकती रूपा को साथ मिला भी तो एक ऐसे अधेड़ ठूंठ का जिसे सिर्फ बेल से लिपटने की चाह थी.