युवावस्था में प्रेम बड़ा नाजुक मसला होता है. तलवार की धार पर चलने जैसा. जरा सा संतुलन हटा तो चोटिल होना तय है. इसलिए शिकार न हों. सच्चा प्यार आसानी से नहीं मिलता.

'सरस सलिल' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now