सवाल

मैं 25 वर्षीय वयस्क हूं. मैं बहुत सी रिलेशनशिप में रह चुका हूं. पर अब मेरी रिलेशनशिप और प्यारव्यार के चक्करों में पड़ने की इच्छा नहीं रही. अब मुझे नहीं लगता कि मैं किसी से उस तरह प्यार कर भी पाऊंगा जैसा मुझे मेरी पहली गर्लफ्रैंड से हुआ था. मेरे औफिस में एक लड़की है. मेरी बहुत अच्छी दोस्त है. मैं उस के प्रति आकर्षण महसूस करता हूं परंतु उस का दिल दुखाने से डरता हूं. मैं क्या करूं?

जवाब

आप को अपने अतीत से बाहर निकलने की जरूरत है. आप को 1-2 बार प्यार में मंजिल नहीं मिली, इस का मतलब यह नहीं कि आप खुद को प्रेम में पड़ने से ही रोक दें. आप उस लड़की की तरफ आकर्षित हैं तो आप के प्यार में पड़ने की संभावनाएं भी हैं. आप इस तरह अपनेआप को प्रेम करने से रोकेंगे और उस की तरफ आकर्षित भी होते रहेंगे तो इस से आप का मन कभी शांत नहीं हो पाएगा और कहीं ऐसा न हो कि आप की अकुलाहट को वह कभी दोस्ती से ज्यादा समझे ही न और किसी दूसरे व्यक्ति के साथ प्रेम में पड़ जाए. समय रहते उस से अपने मन की बात कह दीजिए, खुद को प्रेम में पड़ने से मत रोकिए. हो सकता है आप दोनों का प्रेम परवान चढ़े और यह आप की जिंदगी का सब से अच्छा फैसला साबित हो.

ये भी पढ़ें- मेरी उम्र 19 वर्ष है. मैं सिंगल हूं और इस का मुझे कोई दुख नहीं है…

ये भी पढ़ें- मैं अपनी सासू मां से बेहद परेशान हूं क्योंकि……

मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता हूं. मेरी गर्लफ्रैंड 11वीं कक्षा में है…

सवाल

मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता हूं. मेरी गर्लफ्रैंड 11वीं कक्षा में है. हम एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं. मैं उसे छोड़ कर इस स्कूल से नहीं निकलना चाहता. मैं यदि 12वीं में फेल हो जाऊं तो यह संभव है, पर मुझे समझ नहीं आ रहा कि ऐसा करना सही होगा या नहीं?

जवाब…

इस उम्र में लड़का-लड़की सिर्फ अपनी दुनिया में खोए होते हैं. जैसे ही हकीकत की जमीन पर आते हैं तो गुब्बारे की हवा की तरह उन का प्यार भी फुस हो जाता है. फेल होने जैसी बेवकूफी न करें. यह समय अपने भविष्य को संवारने का है, प्रेम संबंधों में पड़ कर अपने जीवन के कीमती समय को व्यर्थ करने का नहीं. आप के मातापिता को आप से बहुत उम्मीदें हैं. आप के पास पछताने के सिवा कुछ नहीं बचेगा.

Tags:
COMMENT