भारतीय जनता पार्टी की लव जिहाद मुहिम देश की एकता के लिए खतरा होने के साथ युवाओं के अपने फैसले खुद करने पर धार्मिक अंकुश भी है. बाहर वालों को यह हक कभी नहीं मिल सकता  कि वे किसी लड़के, किसी लड़की को एकदूसरे के प्रेम में डूबने व विवाह के बंधन में बंधने से रोकें सिर्फ इसलिए कि वे अलग अलग धर्मों के हैं.

केरल में भारतीय जनता पार्टी इसे चुनावी मुद्दा बना कर युवाओं के प्राकृतिक हक को छीन रही है. गली में, बस में, ट्रेन में, क्लास में या दफ्तर में जब कोई किसी को चाहने लगे तो वे एकदूसरे की कुंडली थोड़े ही मांगेंगे. हां, पंडे तो चाहेंगे ही कि कोई विवाह उन की मरजी और उन को दानदक्षिणा दिए बिना न हो. पर प्रेम तो शक्ल, व्यवहार और लगाव के कारण होता है, कुंडलियों के आधार पर नहीं.

आजकल भारतीय जनता पार्टी लव जिहाद का नारा मुसलिमों के लिए लगा रही है तो क्या पता, कल हिंदू सिख, हिंदू, बौद्ध और फिर दलित, पिछड़े, पिछड़े ब्राह्मण प्रेमों पर हाथ मारने लगें. वैलेंटाइन डे पर घूम रहे जोड़ों से धर्मरक्षक जब मारपीट करते हैं तो उन का अर्थ यही होता है कि बिना पंडों की मंजूरी के लड़कालड़की हाथ में हाथ डाले क्यों घूम रहे हैं.

गौरक्षकों से विवाहरक्षक बने ये धर्मरक्षक हर तरह के हक अपने हाथ में लेने लगे हैं. लखनऊ में एक देवी, जो खुद को भाजपा की छोटीमोटी नेता बताती हैं, ने भरे बाजार में एक लड़की पर थप्पड़ों की बौछार कर दी कि वह एक अनजान मुसलिम लड़के से क्यों बतिया रही थी और फिर टैलीविजन पर खुद का जम कर गुणगान कर रही थी कि उस ने महान काम किया है. मोहन भागवत ने एक तरह से इन रक्षकों को अभयदान दिया है. गाएं बचें या नहीं, युवाओं के हक जरूर खतरे में हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरस सलिल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...