ज्यादातर पुरूष 2 ही तरह के अंडरवियर पहनना पसंद करते है और वे दो हैं बौक्सर और ब्रीफ. मार्केट में बिकने वाले हजारों में से अपने लिए सही अंडरवियर चुनना काफी मुश्किल हो सकता है. क्या आप जानके हैं कि गलत अंडरवियर आपके लिए काफी सारी परेशानियां खडी कर सकता है और उन बिमारियों में से एक मुख्य बिमारी है शुक्राणुओं की कमी.

25% तक कम हो सकता है स्पर्म काउंट…

जी हां गलत अंडरवियर पहनने से आपका पिता बनना मुश्किल हो सकता है. एक रिसर्च के मुताबिक जो पुरूष टाइट अंडरवियर पहनते हैं उन पुरूषों में शुक्राणुओं की संख्या 25% तक कम हो सकती है और यही नहीं बल्कि टाइट अंडरवियर से स्पर्म काउंट और क्वालिटी दोनों कम हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें- छुट्टी लेने के लिए खुद को बताया कोरोना से पीड़ित

अगर कम्पेयर किया जाए तो जो पुरूष टाइट अंडरवियर ना पहन के ढ़ीले अंडरवियर पहनना पसंद करते हैं उन पुरूषों की स्पर्म क्वालिटी काफी बेहतर होती है उन पुरूषों से जो टाइट अंगरवियर पहनते हैं. स्पर्म काउंट और क्वालिटी पुरूषों के पिता बनने में काफी प्रभाव डालता है.

स्टाइलिश के साथ खतरनाक भी है टाइट अंडरवियर…

बौक्सर अंडरवियर हमारी जांघों के पास से ढीले होते हैं जो काफी कम्फरटेबल होते हैं और वहीं दूसरी तरफ ब्रीफ अंडरवियर की शुरूआत बौक्सर के मुताबिक काफी समय बाद हुई था और ब्रीफ अंडरवियर बिकनी की तरह बौडी से चिपका होता है और इसकी टाइट फिटिंग की वजह से ये काफी स्टाइलिश लगता है. यही कारण है कि आज कल के लड़के ब्राफ पहनना ज्यादा प्रेफर करते हैं.

अंडकोषों का तापमान होना चाहिए कम…

टाइट अंडरवियर पहनने से स्पर्म क्वालिटी काफी हद तक प्रभावित होती है क्योंकि पुरुषों में स्पर्म टेस्टिस यानी अंडकोष में होता है जिसका तापमान से काफी असर पड़ता है. हमारे शरीर का तापमान वैसे ही काफी गरम होता है और हमारे शरीर के अनुसार अंडकोषों का तापमान 2-4 डिग्री सेल्सियस तक कम काफी जरूरी है.

ये भी पढ़ें- सेक्स में मर्द को भी होता है दर्द, जानें कैसे

यही कारण है कि टाइट अंडरवियर पहनने से शरीर से निकलने वाली गर्मी के कारण अंडकोष भी गर्म हो जाते हैं और स्पर्म क्वालिटी खराब हो जाती है. हमें जितना हो सके ढीले अंडरवियर पहनने चाहिए ताकी हमारे शरीर के अनुसार अंडकोषों का तापमान कम रह सके.

Tags:
COMMENT