पूरा विश्व जहां कोरोना वायरस को ले कर डर के माहौल में है, वहीं कुछ लोग इस बीमारी को मजाक भी बना डालते हैं.

यह सही है कि किसी को औफिस जाने का मन नहीं होता तो वह बौस से तरह-तरह के बहाने बना कर छुट्टियां  लेता है. मगर एक ऐसे समय जब कोरोना वायरस को ले कर सब डरे हुए हों, एक व्यक्ति ने औफिस न जाने का बहाना बनाते हुए खुद को कोरोना से पीड़ित मरीज घोषित कर दिया.

अजीबोगरीब मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह अजीबोगरीब मामला है चीन का, जहां एक व्यक्ति ने लंबी छुट्टियां लेने और मौजमस्ती करने के लिए अपनी कंपनी को मेल कर दिया कि वह कोरोना वायरस से पीङित है और उसे छुट्टियां चाहिए ताकि वह अपना उपचार करा पाए.

ये भी पढ़ें- सेक्स में मर्द को भी होता है दर्द, जानें कैसे

कंपनी ने तुरंत उस की छुट्टियां मंजूर कर दीं और उस के आसपास बैठे लोगों का मैडिकल चैकअप भी कराया.

इतना ही नहीं औफिस को कुछ दिनों तक के लिए बंद भी कर दिया गया ताकि वहां अच्छी तरह साफसफाई हो सके.

हैरत की बात तो तब हुई जब कंपनी के एक भी कर्मचारी कोरोना वायरस से पीङित नहीं पाए गए तब कंपनी ने उस व्यक्ति से अपना मैडिकल रिपोर्ट भेजने को कहा.

सिर मुंडाते ओले पड़े

झूठ बोलने वाला वह व्यक्ति कोई रिपोर्ट पेश नहीं कर पाया तो कंपनी ने पुलिस में शिकायत करी. पुलिस की सख्ती से उस ने सच उगल दिए और कहा कि उस ने छुट्टियां लेने के बहाने झूठ कहा था.

कंपनी ने काररवाई करते हुए उक्त व्यक्ति को नौकरी से बर्खास्त कर दिया, वहीं पुलिस ने भी उस पर काररवाई की और 3 महीने के लिए जेल भेज दिया.

ये भी पढ़ें- खास अंगों की साफसफाई

मालूम हो कि किसी भी तरह का अफवाह फैलाना कानूनन जुर्म माना जाता है और इस के लिए सजा का प्रावधान है.

Tags:
COMMENT