जैसे-जैसे समाज, देश विकसित होता जा रहा है, वैसे वैसे लोगों में पैसों को लेकर लालच बढ़ती चली जा रही है. ऐसे में रुपए कमाने के लिए मेहनत से दूर रहने वाले, आलसी किस्म के लोग सबसे आसान रास्ता लोगों को ठगने, मुर्ख बनाने का समझते हैं. आज इस रिपोर्ट में हम आपको ठगी के कुछ ऐसे अनोखे प्रकरण बताने जा रहे हैं जो छत्तीसगढ़ में घटित हुए हैं और यह सब बताते हैं कि हमें सतर्क किस तरह रहना होगा.

छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर में अगरबत्ती में इस्तेमाल की जाने वाले कपूर के नाम पर लाखों रुपए की ठगी की घटना सामने आई है.यही नहीं किसानों को उन्नत बीज उपकरण देने के नाम पर ठग लिया गया. अंततः ठग किस तरह पकड़े गए पढ़िए आगे-

कपूर सप्लाई करने का झांसा देकर 1 लाख 86 हजार रु की धोखाधड़ी करने वाले तीन आरोपियों को बिलासपुर के कोतवाली पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कल की लाया . इन आरोपियों ने खुद को डिवाइन टेम्पर प्राइवेट लिमिटेड इंदौर का प्रतिनिधि बताया और घटना को अंजाम दिया था.

पीड़ित परेश सचदेव दयालबंद में रमेश केमिकल इंडस्ट्री के नाम से दुकान संचालन कर अगरबत्ती बनाने का काम करता है. जिसमें कच्चे माल के रूप में कपूर का इस्तेमाल होता है. उसके पास जुलाई महीने में एक नंबर से फोन आया और खुद को डिवाइन टेम्पर प्राइवेट लिमिटेड, इंदौर मध्य प्रदेश का प्रतिनिधि होना बताया . बातचीत के बाद दोनों के बीच कपूर लेन देन का रेट तय हुआ.

ये भी पढ़ें- प्रेमिका की बली – भाग 3

जिसके बाद पीड़ित ने उसके खाते में 1 लाख 86 हजार रुए नेफ्ट के माध्यम से ट्रांसफर कर दिया, लेकिन पैसे ट्रांसफर करने के बाद भी उसने कपूर सप्लाई नहीं किया. जब 4 माह बीत गया और कपूर नहीं मिला तब प्रार्थी ने पुलिस थाने में दस्तक दी.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT