सरस सलिल विशेष

आप दिन भर के थके हुए घर लौटे हैं और आपके मन में सेक्स का ख्याल दूर दूर तक नहीं हैं. लेकिन जैसे ही आप बिस्तर पर लेटते हैं, यह साफ हो जाता है कि आपके साथी के मन में आज सेक्स के अलावा कुछ भी नहीं है. उसको मना करने के बजाय आप अनमने मन से उसके साथ सेक्स कर लेते हैं. शायद आप यह उसकी खुशी के लिए करते हैं, या शायद इसलिए क्यूंकि आपको पता है कि मना करने से उसका मूड खराब हो जाएगा.

अपना मन मारना

मन ना होने पर भी सेक्स करने को शोधकर्ताओं ने ‘अनुवर्ती सेक्स’ का नाम दिया है. अध्ययन से पता चला है कि पुरुषों की तुलना में ऐसा महिलाएं ज्यादा करती हैं. अनुवर्ती सेक्स और जबरदस्ती करे जाने वाले सेक्स में फर्क है. इसमें आप इसलिए यौन सम्बन्ध नहीं बनाते क्यूंकि आपका साथी आपके साथ जोर जबरदस्ती करता है, बल्कि यहां तो आपके साथी को यह पता ही नहीं चलता कि आप सेक्स नहीं करना चाहते और केवल उसका मन रखने के लिए कर रहे हैं, चाहे अपना मन मार कर ही सही.

तो ऐसा महिलाएं क्यों करती हैं? यह जानने के लिए अमेरिकी शोधकर्ताओं के एक समूह ने विश्विद्यालय में पढ़ने वाली 250 लड़कियों से संपर्क किया. उन्हें औनलाइन एक सर्वे भरने को कहा गया जिसमें उन्हें अपने उस समय के अनुभव के बारे में बताना था जब उन्होंने अपना मन मार कर सेक्स किया. यहां सेक्स का मतलब था प्रवेशित सेक्स, गुदा और मुख मैथुन. शोधकर्ता यह भी जानना चाहते थे कि सेक्स करते हुए उनका व्यक्तित्व कैसा रहता है और अपने रिश्ते में वो अपने साथी से किस तरह से पेश आती हैं.

परिणाम आने के बाद शोधकर्ताओं को पता चल चुका था कि लगभग आधी महिलाओं ने कभी ना कभी मन मार कर सेक्स किया है. 30 प्रतिशत महिलाएं ऐसी थी जिन्होंने यह अपने वर्तमान साथी के साथ किया था या फ़िर उस साथी के साथ जिसके साथ उनका रिश्ता सबसे लंबा चला था.

60 प्रतिशत महिलाओं का कहना था कि उन्होंने यह किया तो है लेकिन उनका मानना था कि ऐसा बहुत कम होता है. लेकिन चार में से एक महिला ऐसी भी थी जिन्होंने लगभग 75 प्रतिशत से ज़्यादा बार अपना मन मार कर सेक्स किया था.

तो यह लोग ऐसा क्यों कर रहे थे? इसका एक कारण तो यह था कि उनकी नज़र में ऐसा करने से उनका रिश्ता बेहतर और मजबूत होगा. एक महिला अपने साथी के साथ केवल इसलिए सेक्स के लिए तैयार हो जाती है क्योंकि उसे पता है कि उसे लगे ना लगे उसके साथी को यह अच्छा लगेगा. एक और कारण जो इतना सामान्य नहीं है, वो यह है कि महिलाओं को लगता है कि सेक्स करने से उनका रिश्ता चलता रहेगा – उन्हें यह डर रहता है कि कहीं उनके मना करने से उनका साथी उन्हें छोड़ कर ना चला जाए.

सेक्स संवाद!

अध्ययन से यह भी पता चला कि जो महिलाएं अपने साथी को अपनी कामुक पसंद और नापसंद के बारे में बता कर रखती थी, उनके अनुवर्ती सेक्स करने की संभावना कम थी क्योंकि जब उनका सेक्स करने का मूड नहीं होता था तब भी वो मन मारने के बजाय, वो बात अपने साथी को बता देती थी.

अगर यह सब आपको जाना पहचाना लग रहा है तो शायद आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि कैसे आप अपनी यौन इच्छाओं को अपने साथी को बता सके और उस बारे में भी, जब आप सेक्स नहीं करना चाहते हों. इससे आपको बेहद फायदा होगा.

पुरुष भी इस का ख्याल रख सकते हैं. अगली बार सेक्स करते हुए ध्यान दें कि क्या आपका साथी पूर्ण रूप से कामोत्तेजक है और क्या उसे सच में मज़ा आ रहा या फ़िर वो केवल आपका मन रखने के लिए यौन क्रिया में लिप्त हो रही है. यह जानने का सबसे आसान तरीका जानते हैं क्या है? सीधा पूछ लो मेरे भाई! शानदार सेक्स की ओर यह आपका पहला कदम होगा.