समाज इस कदर विकृत होता जा रहा है कि मासूम बच्चियां भी बड़ेबूढ़ों की हवस का शिकार बन रही हैं. मासूमों से हवस पूरी करने की घिनौनी प्रवृत्ति पर अंकुश आखिर कैसे लगे.