सरस सलिल विशेष

जौन अब्राहम अपनी महत्वाकांक्षी फिल्म ‘‘परमाणु’’ को लेकर प्रेरणा अरोड़ा के साथ अदालती चक्कर में फंस गए हैं. दोनों के बीच विवाद के चलते मसला अदालत में विचाराधीन है. सोमवार, 16 अप्रैल को मुंबई उच्च न्यायालय के जज एस जे कांठावाला ने कहा कि फिल्म ‘‘परमाणु’’ के केस की सुनवाई के वक्त जौन अब्राहम को भी अदालत में मौजूद रहना चाहिए. उसके बाद मंगलवार, 17 अप्रैल को जौन अब्राहम भी अदालत पहुंचे.

अदालत में प्रेरणा अरोड़ा के वकील ने कहा कि प्रेरणा अरोड़ा की कंपनी जौन अब्राहम की कंपनी को बकाया पांच करोड़ रूपए देगी. मगर जौन अब्राहम को फिल्म के प्रचार पर दस करोड़ रूपए खर्च करने होंगे. काफी बहस के बाद अदालत ने दोनों पक्षों से कहा कि वह दोनों आपस में बैठकर इस मसले को सुलझा लें.

अब जौन अब्राहम और प्रेरणा अरोड़ा के बीच बातचीत होगी और दोनों ने आपस में कोई समझौता कर लिया, तो वह उस समझौते की जानकारी अदालत में देंगे, उसके बाद ही अदालत फिल्म ‘परमाणु’ के प्रचार पर लगायी गयी रोक हटा सकती है. यानी कि यह तय हो गया है कि ‘‘परमाण’’ 4 मई को नहीं आ पाएगी. बौलीवुड का एक तबका मान रहा कि अब ‘‘परमाणु’’ 25 मई को ही सिनेमाघर पहुंच पाएगी.

VIDEO : टिप्स फौर लुकिंग ब्यूटीफुल एंड अट्रैक्टिव

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैन

Tags: