सरस सलिल विशेष

सवाल 

मैं 20 वर्षीय युवक हूं. मैं शुरू से ही काफी अंतर्मुखी स्वभाव का रहा हूं. बहुत ही कम लोगों से मेरी दोस्ती है. चूंकि परिवार में भी मातापिता के अलावा कोई नहीं है और वे दोनों भी नौकरीपेशा हैं, इसलिए घर पर भी ज्यादातर समय मैं अकेला ही रहता हूं. संभवतया इसी वजह से मैं लोगों से जल्दी नहीं घुलमिल पाता. मेरी छवि स्कूल और कालेज में एक पढ़ाकू या यों कहूं कि किताबीकीड़े की रही है. साथ के लड़के कालेज में मौजमस्ती करते थे, नइनई गर्लफ्रैंड्स रखते थे, जबकि मेरा इस ओर कोई रूझान ही नहीं रहा. घर वाले भी चाहते थे कि मैं अच्छे ग्रेड्स लाऊं. मैं उन की इच्छाओं को पूरा करने में लगा रहा हूं. पिछले महीने पता नहीं एक लड़की का फ्रैंडशिप प्रोपोजल मैं ने कैसे स्वीकार लिया वह भी फेसबुक पर. कुछ दिनों की दोस्ती में ही हम काफी करीब आ गए. हम रोज मिलने लगे थे.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT