असम में 16 साल की एक सिंगर नाहिद आफरीन के खिलाफ 46 मौलानाओं ने फतवा जारी किया है. बताया जा रहा है कि फतवा इसलिए जारी किया गया है, ताकि उसे पब्लिक के बीच गाने से रोका जा सके. बता दें कि नाहिद 2015 में रियलिटी टीवी शो इंडियन आइडल जूनियर में फर्स्ट रनर-अप रही थीं. न्यूज एजेंसी और मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाहिद ने हाल ही में आईएसआईएस समेत कुछ आतंकी गुटों के खिलाफ गाने गाए थे. पुलिस पता लगा रही है कि फतवा जारी करना कहीं उसका रिएक्शन तो नहीं है.

एडीजी स्पेशल ब्रांच पल्लब भट्टाचार्य ने कहा, "हम इस एंगल से भी मामले की जांच कर रहे हैं." मंगलवार को असम के होजई और नागांव जिलों में पर्चे बांटे गए, जिनमें फतवा और इसे जारी करने वाले मौलानाओं के नाम लिखे थे. फतवे के मुताबिक, "म्यूजिकल नाइट जैसी चीजें शरिया के बिल्कुल खिलाफ हैं. अगर ऐसी चीजें मस्जिद, ईदगाह, मदरसा और कब्रिस्तान के आसपास होने लगीं तो हमारी आने वाली पीढ़ी को अल्लाह की नाराजगी झेलनी पड़ेगी."

बताया जा रहा है कि 25 मार्च को असम के लंका इलाके के उदाली सोनई बीबी कॉलेज में नाहिद को परफॉर्म करना है, इसी को देखते हुए उसके खिलाफ फतवा जारी किया गया है. नाहिद 10वीं क्लास में पढ़ती हैं और बिश्वनाथ चारिअली इलाके में रहती हैं. फतवे पर नाहिद ने कहा, "मुझे लगता है कि मेरा संगीत अल्लाह का तोहफा है. मैं ऐसी धमकियों के आगे झुककर अपना संगीत नहीं छोड़ूंगी."

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरस सलिल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...