जैसा कि हम सब जानते हैं कि भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus) का प्रभाव बढ़ते जा रहा है और यहां तक की भारत सरकार (Indian Government) ने इस खतरनाक बिमारी को देखते हुए स्कूल (School), कौलेज (College), शौपिंग मौल्स (Shopping Malls), मूवी थिएटर्स (Movie Theatres), नाइट क्लब्स (Night Clubs) आदि कुछ दिनों तक बंद रखने का आदेश दिया है. जहां एक तरफ सरकार कोरोना वायरस से सावधान रहने के लिए इतना सब कर रही है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस बिमारी का बुरी तरह से मजाक बना रहे हैं.

ये भी पढ़ें- ‘ये गलती आप लोग ना करे जो मैंने की अनजाने में’ – भोजपुरी ऐक्ट्रेस रानी चटर्जी

पौपुलर लिरिसिस्ट मनोज मुंतशिर ने किया ऐसा ट्वीट…

lehenga-me-coronavirus

पिछले कुछ दिनों से एक भोजपुरी (Bhojpuri) गाना काफी वायरल हो रहा है जिसका नाम है “लहंगा में वायरस कोरोना घुसल बा” (Lehenga Mein Corona Virus Ghusal Ba). कई लोगों ने इस गाने की कड़े शब्दों में बुराई भी की. वहीं बौलीवुड (Bollywood) के पौपुलर लिरिसिस्ट (Lyricist) मनोज मुंतशिर (Manoj Muntashir) जिन्होनें बौलीवुड इंडस्ट्री को तेरी मिट्टी (Teri Mitti) जैसे कई खूबसूरत गाने दिए हैं, वे इस गाने को देख काफी गुस्सा हुए और एक ट्वीट (Tweet) कर लोगों से जवाब मांगा कि क्या ऐसी खतरनाक बिमारी का मजाक उड़ाना ठीक है?

ये भी पढ़ें- होली पर रिलीज खेसारीलाल यादव की इस फिल्म को मिली धमाकेदार शुरुआत, देखें फोटोज

ट्वीट कर पूछा ये सवाल…

मनोज मुंतशिर (Manoj Muntashir) ने अपने औफिशियल ट्वीटर (Twitter) अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा है कि,- “एक #BhikhariThakur के भोजपुरी गीत थे, जो आज भी साहित्य में ऊँची जगह रखते हैं, एक ये लोग हैं जो जिन्होंने इतनी सुंदर भाषा का तमाशा बना के रख दिया है. क्या एक ख़तरनाक बीमारी का इस तरह मज़ाक़ बनाना सही है..??? अपनी राय दीजिए.”

ये भी पढ़ें- सरस सलिल भोजपुरी सिने अवार्ड : मनोज सिंह टाइगर को मिला बेस्ट पौपुलर कामेडियन अवार्ड

लोगो ने दी अपनी-अपनी राय…

मनोज मुंतशिर के इस ट्वीट के बाद लोगों ने अपनी राय देनी और कमेंट्स करने शुरू कर दिए. मनोज के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए टेलिवीजन एक्टर अनिरुद्ध  दावे (Anirudh Dave) ने कमेंट किया,- “कला की हालत खस्ता है, साहित्य कि इन्हें परख नहीं, समझ नहीं, स्तर बहुत सस्ता है !”. प्रमाद कुमार (Pramod Kumar) नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि,- “100% सही कह रहे सर , इन्ही कुछ लोगों के कारण भोजपुरी बदनाम हो गई है , नही तो भोजपुरी भाषा मे बहुत मिडास है , भोजपुरी निर्गुण का कोई जोर है क्या”.

ये भी पढ़ें- आनंद ओझा और काजल रघवानी की बहुप्रतीक्षित फिल्म “रण” का फर्स्टलुक हुआ आउट

भोजपुरी गाने सुन लोगो को आने लगी है शर्म…

सच्चिदानंद मिक्ष्रा (Sachchidanand Mishra) नाम के एक यूजर ने कमेंट किया है,- अब भोजपुरी पे शर्म आने लगी है सर, ऐसे सैकड़ों भोजपुरी गाने है जिसे सुन कर समाज असहज महसूस करता है. यूपी बिहार में ऐसे गाने बस, ट्रेन, टैक्सी, औटो रिक्शा में बजाते रहते हैं लोग और महिलाएं, स्कूली बच्चियों शर्मिंदगी महसूस करती रहती है. ऐसे गाने बजा कर लड़कियों के साथ अभद्रता होती रहती है.

ये भी पढ़ें- सरस सलिल भोजपुरी सिने अवार्ड : सीपी भट्ट को मिला बेस्ट कौमेडियन का अवार्ड

Tags:
COMMENT