सरस सलिल विशेष

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में विपक्ष एकजुट होकर भाजपा का मुकाबला करेगा. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी जल्द इन दोनों सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से बात करेंगे. पार्टी महागठबंधन के लिए बसपा से भी संपर्क करेगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद इन दोनों सीट पर जल्द चुनाव तय है. ऐसे में कांग्रेस की कोशिश है कि अगले लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में एकजुटता बरकरार रखी जाए. इसलिए, कांग्रेस महागठबंधन बनाए रखने की पूरी कोशिश करेगी.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने पिछले दिनों सीट बंटवारे की शर्त रखकर खुद को विपक्षी एकता से अलग कर लिया था. पर मेरठ रैली में मायावती की सपा और कांग्रेस पर चुप्पी को पार्टी सकारात्मक मान रही है.

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि बसपा अमूमन उपचुनाव नहीं लड़ती है. ऐसे में बसपा को कांग्रेस-सपा गठबंधन का समर्थन करने में कोई दिक्कत नहीं आएगी. लोकसभा चुनाव में गोरखपुर और फूलपुर सीट पर सपा उम्मीदवार दूसरे नंबर पर रहे हैं. ऐसे में इन दोनों सीट पर सपा की दावेदारी बनती है.

योगी, केशव मौर्य का लोकसभा से इस्तीफा

विधान परिषद का सदस्य बनने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्र महाजन की अनुपस्थिति में दोनों नेताओं से लोकसभा सचिवालय में सचिव को अपने इस्तीफे सौंपे. इसके पहले उन्होंने महाजन से फोन पर बात कर अपने इस्तीफे की जानकारी दी.

आदित्यनाथ योगी गोरखपुर और केशव प्रसाद मौर्य फूलपुर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. दोनों सीटों के लिए उप चुनाव गुजरात के विधानसभा चुनाव के साथ होने की संभावना है. इस्तीफा देने के पहले दोनों नेताओं ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की.