हवाओं ने जैसे कोई नज्म है गाई, हर सांस में जैसे तेरी ही धुन समाई.