बारिश का मौसम आते ही खाने के स्वाद मे भी बदलाव जरुरी होता होतो है. गरमा गरम खाने का मन सभी को करता है पर खाने में थोड़ी सी लापरवाही आपकी हेल्थ के लिए काफी परेशानी पैदा कर सकती है. बारिश में बाजार में मिलने वाली चटपटी चीजें आपको ज्यादा आकर्षित करती हैं. मौनसून में खानपान में थोड़ी सी लापरवाही आपको फूड पौयजनिंग, पेट के इंफेक्शन और कालरा, डायरिया जैसी बीमारियां दिला सकती है इसलिए आज हम लेकर आए है सेहतमंद और हेल्दी फूड टीप्स जिसे आपको जरुर ट्राय करना चाहिए.

बारिश के मौसम की स्पेशल डाईट

इस मौसम में दाल, सब्जि़यां व कम फैट वाला खाना खाएं.

बारिश में शरीर में वायु की वृद्धि होती है, इसलिए हल्के व शीघ्र पचने वाले खाने को ही खाएं

बरसात के मौसम में वातावरण में काफी नमी रहती है. जिसके कारण प्यास कम लगती है। लेकिन फिर भी पानी जरूर पीयें.

बरसात में नींबू की शिकंजी पीयें.

फलों को साबुत खाने के बजाय सलाद के रूप में लें. क्योंकि इस मौसम में फलों में कीड़ा होने की संभावना काफी अधिक रहती है और अगर आप उन्हें सलाद के रूप में काटकर खाएंगे तो आप यह देख सकेंगे कि कहीं फल भीतर से खराब तो नहीं है.

ब्रेकफास्ट में ब्लैक टी के साथ पोहा, उपमा, इडली, सूखे टोस्ट या परांठे ले सकते है.

लंच में तले-भुने खाने की बजाय दाल व सब्जी के साथ सलाद और रोटी लें.

डिनर में वेजीटेबल, चपाती और सब्जी लें.

इस मौसम में गरमागरम सूप काफी फायदेमंद रहता है.

दूध में रोजाना रात को हल्दी मिलाकर पीने से पेट और त्वचा दोनों स्वस्थ्य रहेंगे.

बारिश के मौसम मे इसे खाने से बचे

बरसात में गर्मागरम पकौड़े और समोसा खाने को मन जरूर ललचाता है. लेकिन बात अगर सेहत की हो तो इनसे दूर रहने में ही आपकी भलाई है.

गरिष्ठ भोजन, उड़द, अरहर, चौला आदि दालें कम खाएं.

दही से बनी चीजों का सेवन इस मौसम में कम करें.

इस मौसम में फलों के जूस का सेवन सोच-समझकर करें. बारिश में फल पानी में भीगते रहते हैं इससे फलों में रस की तुलना में पानी ज्यादा भर जाता है.

Tags:
COMMENT