इसी दौरान नेहा के पिता ने शांति सागर के श्री चरणों में निवेदन किया था कि वे उन्हें अपना शिष्य बना लें. हजारों भक्तों की भीड़ में रोज कई लोग शिष्य बनने की अनुनयविनय करते रहते हैं...