एक दिन बाजार में… छम्मक आज रात को क्या कर रही हो? कुछ नहीं, बोलो प्रदीप…