बातचीत करना एक कला है. जो इस कला में माहिर हैं उन्हीं का बोलबाला है. चाहे टीवी के चैट प्रोग्राम हों या मोबाइल कंपनियों द्वारा दी गई ‘टौक स्कीम्स’.