सवाल
मैं 24 साल की नवविवाहित युवती हूं. विवाह हुए अभी 5 महीने ही बीते हैं. मैं जब से अपने पति के घर में आई हूं मेरे पीरियड्स कभी जल्दी तो कभी देर से आ रहे हैं. विवाह से पहले मासिकचक्र  बिलकुल संतुलित था. क्या विवाह के बाद मासिकचक्र में असंतुलन आना सामान्य बात है?

जवाब
अनेक नवविवाहिताएं विवाह के बाद इस परेशानी से गुजरती हैं. महीना समय से नहीं होता और दिनों में घटबढ़ होने के साथसाथ मासिकस्राव की मात्रा भी घटबढ़ सकती है. यह शारीरिक फेरबदल ससुराल के नए सामाजिक परिवेश और उस में उपजी मानसिक उथलपुथल से संबंध रखता है.

नया घर, नए लोग, नई परिस्थितियां सभी शरीर की हारमोनल प्रणाली पर गहरी छाप डालते हैं, जिस से मासिकचक्र का संतुलन बना कर रखने वाली धुरी का बैलेंस बिगड़ जाता है. पर इस में घबराने की कोई बात नहीं.

समय के साथ जैसेजैसे आप अपने को नए घर के अनुसार ढाल लेंगी, मासिकचक्र की धुरी भी अपने सामान्य संतुलन में लौट आएगी.

ये भी पढ़ें…

अनियमित हो रहे पीरियड्स तो करें ये घरेलू उपाय

महिलाओं में असमय पीरियड्य की समस्या एक समान्य बात है. पीरियड्स में कभी कभी अनियमितता आम है पर जब ये परेशानी हमेशा होने लगे तो आपको सचेत हो जाना चाहिए. कई महिलाओं में पीरियड्स में 15 से 20 दिनों की देरी हो जाती है. अगर महिलाओं को इतने दिनों तक पीरियड्स ना आएं तो उन्हें कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं. इसमें बदन दर्द,पीठ में दर्द,बालों का झड़ना, घबराहट प्रमुख परेशानियां हैं.

इस दौरान आपको बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है ये सब हार्मोन परिवर्तन होने की वजह से होता है. इस खबर में हम बताएंगे कि मासिक धर्म या पीरियड की होने वाली परेशानियों का घरेलू उपचार आप कैसे कर सकती हैं. इन नुस्खों से आपके पीरियड की समस्या दूर हो जाएगी.

जीरा

पीरियड्स से होने वाली परेशानियों में जीरा काफी कारगर होता है. इसके अलावा उस दौरान होने वाले दर्द में भी काफी राहत देता है. इससे आपको आयरन मिलता है जो महिलाओं में पीरियड्स के दौरान कम हो जाता है. एक चम्‍मच जीरे में साथ 1 चम्‍मच शहद का सेवन हर रोज करें.

बादाम

रात को 2 छुआरे और 4 बादाम को पानी में भिगो कर रख दें. सुबह इनके साथ थोड़ा सी मिश्री के साथ इन्हें पीस लें और मक्खन के साथ इसका सेवन करें. मासिक धर्म से जुडी समस्याएं दूर हो जाएंगी.

अदरक

पीरियड्स को नियमित करने के लिए अदरक बेहद लाभकारी है. इससे पीरियड्स में होने वाले दर्द में भी काफी आराम मिलता है. इसके लिए आप आधा चम्मच अदरक को पीस लें और 1 कप पानी में सात मिनट तक उबालें. अब इसमें थोड़ी शक्कर डालें और खाना खाने के बाद इसे दिन में 3 बार पिएं. ऐसा कम से कम 1 महीने तक करे.

कच्‍चा पपीता

पीरियड्स की परेशानी में कच्चा पपिता काफी कारगर होता है. इसमें ढेर सारा पोषण, एंटीऔक्‍सीडेंट और बीमारी को ठीक करने वाले गुण होते हैं. कच्‍चे पपीते का सेवन मासिक धर्म से जुड़ी हर समस्‍याएं ठीक हो सकती हैं.

Tags:
COMMENT