सरस सलिल विशेष

EXCLUSIVE : प्रिया प्रकाश वारियर का ये नया वीडियो देखा आपने…

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

मलयालम एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश वारियर ने अपनी फिल्म के गाने ‘माणिक्य मलाराया पूवी…’ को लेकर खूब सुर्खियां बटोरीं. जहां एक तरफ लोग इस लोग इस गाने और वीडियो को काफी पसंद कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ इस गाने को लेकर विवाद शुरू हो गया. इतना ही नहीं विवाद इतना बढ़ गया कि  मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया. इस गाने के चलते प्रिया प्रकाश के खिलाफ FIR भी दर्ज काराने की बात की गई. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने प्रिया प्रकाश के मामले में सख्त रवैया न आपनाते हुए उन्हें राहत दी है. जी हां, कोर्ट ने मलयालम एक्ट्रेस के खिलाफ सभी FIR पर रोक लगा दी है.

कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में कोई भी राज्य FIR नहीं करेगा. जिसने भी FIR दर्ज कराई है उन्हें कोर्ट ने नोटिस जारी किया है. बता दें, प्रिया प्रकाश मलयालम फिल्म ‘ओरु अदार लव’ के गाने में नजर आ रही हैं. वेलेंटाइन डे के मौके पर यह गाना सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ. लोगों ने उनके आंख मारने की अदाओ और प्यार के इजहार करने के तरिके को काफी पसंद किया. देखते ही देखते यह वीडियो पूरे सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

लेकिन इस बीच इस गाने को लेकर कुछ लोगों ने अपनी आपत्ति भी दर्ज कराई. इन लोगों का कहना था कि ‘माणिक्य मलाराया पूवी’ गाना केरल के मालाबार क्षेत्र का एक पारंपरिक मुस्लिम गीत है. इस गाने में पैगम्बर मोहम्मद और उनकी पहली पत्नी के बीच प्रेम का वर्णन किया गया है. बता दें कि इस गाने के सोशल मीडिया पर आने के बाद तेलंगाना, रजा अकादमी और जन जागरण समिति ने एक्ट्रेस के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी. इन्होंने आरोप लगाया था कि इस गाने के चलते मुस्लिम भावनाओं को चोट पहुंची है. कोर्ट में दी गई याचिका में कहा गया था कि इस गाने की गलत व्याख्या की गई है. वहीं इस गाने के मेकर्स ने अपनी याचिका में कहा कि इस गाने को 1978 में पीएमए जब्बार द्वारा लिखा गया था. यह केरल का एक पुराना लोक गीत है. इस गाने को पहली दफा थलासेरी रफीक ने पैगम्बर और उनकी पत्नी खदीजा की तारीफ करते हुए गाया था.