सरस सलिल विशेष

EXCLUSIVE : पाकिस्तान की इस मौडल ने उतार फेंके अपने कपड़े, देखिए वीडियो

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

अमृता आचार्य भोजपुरी फिल्मों की उभरती अदाकारा हैं. उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत भोजपुरी फिल्म ‘ससुराल’ से की थी जो सिनेमाघरों में खूब चली थी. मध्य प्रदेश के इटारसी की रहने वाली अमृता आचार्य ने वकालत की डिगरी ले रखी है. छरहरे बदन की मालकिन अमृता आचार्य इस होली  के मौके पर भोजपुरी फिल्म ‘वांटेड’ में हीरो पवन सिंह के साथ नजर आएंगी.

पेश हैं, अमृता आचार्य से की गई बातचीत के खास अंश:

आप ने वकालत की पढ़ाई की, इस के बावजूद ऐक्टिंग को अपना कैरियर बनाया. ऐसा क्यों?

मैं कालेज के समय से ही रंगमंच से जुड़ी रही हूं और मैं ने कई स्टेज प्रोग्राम किए हैं. मेरे इसी शौक ने मुझे फिल्मों की तरफ खींचा. इसी दौरान हीरो प्रदीप पांडेय ‘चिंटू’ के साथ मुझे फिल्म ‘ससुराल’ में काम करने का औफर मिला. यह मेरे लिए गोल्डन चांस था. यह फिल्म सुपरहिट रही थी.

आप मध्य प्रदेश की रहने वाली हैं. ऐसे में आप को भोजपुरी बोलने के लिए कितनी मशक्कत करनी पड़ी?

फिल्म ‘ससुराल’ के दौरान भोजपुरी में बोलना मुझे राई से पहाड़ तोड़ने के बराबर लगा था. लेकिन अब मुझे भोजपुरी बोलने में कोई परेशानी नहीं होती है. मुझे लगता है कि भोजपुरी सब से मीठी बोलियों में से एक है.

क्या आप ने तेलुगु भाषा में भी फिल्में की हैं?

जी हां, बिलकुल. मैं ने तेलुगु में ‘समीरम’ नाम की फिल्म की थी, जिस में मेरी ऐक्टिंग को बेहद सराहा गया था.

आप बड़े बजट की फिल्म ‘वांटेड’ में हीरो पवन सिंह के साथ काम कर के कैसा महसूस कर रही हैं?

यह मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है. पवन सिंह सैट पर मेरी बहुत मदद करते हैं. उन के साथ काम कर के मुझे ऐक्टिंग की बारीकियों को सीखने का मौका मिला है. वे बहुत ही अच्छे इनसान हैं.

जहां तक ‘वांटेड’ जैसी बड़े बजट की फिल्म में काम करने का सवाल है तो मुझे उम्मीद है कि दर्शक मेरी ऐक्टिंग से निराश नहीं होंगे.

‘वांटेड’ कैसी फिल्म है?

फिल्म ‘वांटेड’ में ऐक्शन के अलावा रोमांस का तड़का भोजपुरिया स्टाइल में देखने को मिलेगा. यह फिल्म काफी अलग और दमदार कहानी पर बनी है, जिस में देशभक्ति, ऐक्शन, इमोशन को बेहतरीन ढंग से फिल्माया गया है.

आप रंगमंच से जुड़ी रही हैं. ऐसे में फिल्मों में काम करने का आप को कितना फायदा मिला?

सरस सलिल विशेष

देखिए, फिल्मों में आप जब तक सब से शानदार शौट नहीं दे देते हैं तबतक आप को मौका मिलता रहता है, जबकि रंगमंच में ऐसा नहीं है. आप एकबार मंच पर परफौर्मेंस कर रहे हों तो वहां गलतियां सुधारने का मौका नहीं होता है, इसलिए रंगमंच में की गई ऐक्टिंग से फिल्मों में गलतियां होने का खतरा कम हो जाता है. इस का फायदा मुझे भी मिला है.

आप को फिल्मों में काम कर खुद की ऐक्टिंग में कुछ बदलाव नजर आया?

मुझे तो भोजपुरी फिल्मों में काम करने के दौरान हर छोटीछोटी गलती को सुधारने का मौका मिला. मुझे लगता है कि फिल्में आप को ऐक्टिंग में माहिर बनाती हैं.

आप ने फिल्म ‘वांटेड’ में किस तरह का रोल किया है?

मैं ने इस फिल्म में एक शहरी लड़की का रोल किया है. इस की कहानी आप फिल्म के सिनेमाघरों में रिलीज होने के बाद खुद जान जाएंगे.

क्या आप की कोई हिंदी फिल्म भी आने वाली है?

हां, मेरी एक हिंदी फिल्म भी आ रही है, जो जल्द ही सिनेमाघरों में होगी.

खुद को फिट रखने के लिए आप क्या करती हैं?

अगर आप को ग्लैमर की दुनिया में मुकाम बनाना है, तो अपनी सेहत और फिटनैस पर खास ध्यान देने की जरूरत होती है.

मैं खुद के खानपान और ऐक्सरसाइज पर खास ध्यान देती हूं, तभी मैं खुद को फिट रख पाने में कामयाब हूं.

Tags: