भारतीय स्टार शटलर पीवी सिंधु ने जो काम किया वो आज तक कोई भी भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी नहीं कर पाया.