सरस सलिल की शॉर्ट स्टोरी

औद्योगीकरण से प्रभावित आदिवासी जनजीवन के बारे में जानने को उत्सुक पत्रकार उन आदिवासी इलाकों में गया जहां कारखाने लगाए गए थे. यहीं एक आदिवासी मुंडा ने उसे ऐसी बातें बताईं कि वह हैरान रह गया.

अनलिमिटेड कहानियां आर्टिकल पढ़ने के लिए आज ही सब्सक्राइब करेंSubscribe Now