बौलीवुड अभिनेता जौन अब्राहम, रितिक रोशन, सलमान खान और शाहरुख खान अकेले पुरुष नहीं हैं जो अपने शरीर की देखभाल के लिए चर्चा में रहते हैं. इन की तर्ज पर आज के युवा भी अपने शरीर की देखभाल करने में लगे हुए हैं. पहले युवा लड़के ज्यादा से ज्यादा अपने शरीर का खयाल रखने के लिए ही जिम जाते थे. अब युवा अपनी स्किन केयर भी करने लगे हैं.

कौस्मैटिक बाजार के जानकारों का मानना है कि लड़कों के शृंगार का बाजार एक हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का है. लखनऊ में एस्थेवा ब्यूटी ऐंड हैल्थ क्रिएटर की अपर्णा मिश्रा का मानना है, ‘‘युवा लड़के क्लींजर, फेसबौडी स्क्रबर, टोनर, मौइस्चराइजर, नरिशिंग क्रीम, शेविंग क्रीम, सन क्रीम, आफ्टर शेव लोशन, हेयर क्रीम और हेयर जैल का प्रयोग करते हैं. इस के साथ ही साथ स्पा, मसाज और सभी ब्यूटी सुविधाओं का लाभ भी लेते हैं.’’

छोटे से ले कर बड़े शहरों में यूनीसैक्स और मैंस पार्लर खुल गए हैं. वहां पुरुष फेशियल, नेल फाइलिंग, हेयर कलरिंग, हिना, मसाज और स्पा कराने के लिए आते हैं. अपर्र्णा मिश्रा बताती हैं, ‘‘ मैंस पार्लर आने वालों में हर आयु के लोग शामिल हैं. जहां कम आयु के लोग हेयर स्टाइल, फेशियल और हेयर कलरिंग के लिए आने लगे हैं तो वहीं बड़ी उम्र के लोग रिलैक्स करने के लिए आते हैं.

‘‘ये लोग घर से अपना समय काटने के लिए भी यहां चले आते हैं. अब तो पुरुष चैस्ट वैक्सिंग भी कराने लगे हैं. वैसे, ध्यान रखने वाली बात यह है कि कभी भी ब्लीच और शेविंग साथसाथ नहीं कराना चाहिए.’’

युवा बनाती है स्किन केयर

पहले लड़के त्वचा की देखभाल के लिए क्रीम का इस्तेमाल नहीं करते थे लेकिन अब वे भी त्वचा की क्रीम प्रयोग करने लगे हैं. त्वचा की खूबसूरती के लिए यह जरूरी भी है. आज लड़के मुंहासों, पिगमैंटेशन और चेहरे पर पड़े निशानों को मिटाने के लिए पार्लर जाने लगे हैं. जो लड़के हाफस्लीव शर्ट पहनते हैं उन के खुले हाथों का रंग बदल जाता है. इस रंग को साफ करने और खुली त्वचा की देखभाल के लिए वे पार्लरों का सहारा लेने लगे हैं. शायद इसीलिए सौंदर्य प्रसाधन बनाने वाली कंपनियां अब पुरुषों को गोरा बनाने में जुट गई हैं.

आज के दौर में लड़के एक से 2 घंटे अपने सौंदर्य की देखभाल पर खर्च कर रहे हैं. लड़के जमाने को यह दिखाना चाहते हैं कि सुंदरता पर केवल औरतों का ही हक नहीं रह गया है. खूबसूरती और स्मार्टनैस आदमी में आत्मविश्वास जगाते हैं. आज कैरियर के हर क्षेत्र में ऐसे ही लोगों की जरूरत है. इसलिए लड़के ज्यादा से ज्यादा अपने रखरखाव में आगे बढ़ रहे हैं.

त्वचा पुरुष की हो या औरत की, दोनों को ही देखभाल की जरूरत होती है. लड़कों की त्वचा थोड़ी सख्त जरूर होती है पर देखभाल की जरूरत उन को भी पड़ती है. लड़कों के सौंदर्य प्रसाधनों में वही सब होता है जो लड़कियों के सौंदर्य प्रसाधनों में होता है. लड़कों की त्वचा पर इस्तेमाल होने वाली क्रीम थोड़ी ज्यादा स्ट्रौंग होती है.

लड़कों के सौंदर्य प्रसाधनों में 50 रुपए की शेंविग क्रीम से ले कर 400 रुपए तक के सामान मिल रहे हैं. इस के अलावा मास्क की कीमत इस से ज्यादा हो सकती है. गोरा बनाने की क्रीम पहले लड़कियों की ही पसंदीदा होती थी. अब लड़के भी गोरा बनने के नाम पर क्रीम का इस्तेमाल करने लगे हैं. धूप से त्वचा को बचाने के लिए सनस्क्रीन लोशन का प्रयोग पुरुष भी करने लगे हैं. वे भी त्वचा पर झुर्रियां रोकने वाली क्रीम लगाने लगे हैं.

बाजार के जानकार बताते हैं कि बालों और त्वचा की देखभाल में लड़के लड़कियों से ज्यादा पैसा और समय लगाने लगे हैं. कुछ वर्षों से लड़कों में त्वचा की देखभाल करने की जागरूकता आई है. कम उम्र में देखभाल शुरू हो जाने से त्वचा को नुकसान कम पहुंचता है.      -शैलेंद्र सिंह द्य

हसीन बनने के उपाय

त्वचा की देखभाल के साथ ही साथ चेहरे को मर्दाना हसीन और कम उम्र का दिखाने के लिए कई तरह के इलाज भी होते हैं. इस को स्पैशलिस्ट डाक्टर ही करते हैं.

  •  बोटोक्स में सूई के जरिए झुर्रियां डालने वाली मांसपेशियों को प्रभावहीन कर दिया जाता है. एक बार का असर 3-4 महीने तक रहता है.
  •  नाक और होंठ के आसपास की सिलवटों को सही करने के लिए फिलर का प्रयोग किया जाता है.
  •  फेसलिफ्ट के जरिए ढीली त्वचा को सही किया जाता है. इस से आदमी की उम्र 5 साल तक कम लगने लगती है.
  •  झुर्रियों को कम करने के लिए उन को काट दिया जाता है.
  •  चकत्ते, गले और छाती पर तेज धूप के निशान को कम करने के लिए फोटो फेशियल किया जाता है.
  • हरे पर चमक के लिए माइक्रोडर्माब्रेशन का उपयोग किया जाता है. यह अभी कम प्रचलन में है.

15 टिप्स फौर मैन स्किन

  •  जो लोग धूप में ज्यादा रहते हैं उन्हें 15 दिन में एक बार मैंस पार्लर जा कर ‘डेड स्किन रिमूवर क्रीम’ का प्रयोग करना चाहिए.
  •  जिन लोगों की त्वचा धूप में रहने के कारण ज्यादा खराब होती हो उन को औक्सी ब्लीच एवं फेशियल कराना चाहिए.
  • फेशियल एक समय के अंतर पर माह में एक बार ही कराना चाहिए. अधिक बार फेशियल कराने से त्वचा को नुकसान भी होता है.
  •  त्वचा पर अधिक मुंहासे हों तो गोल्ड या चौकलेट फेशियल में विटामिन ई आयल कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए. रात में सोते समय एलोवेरा क्रीम या विटामिन ई का प्रयोग करना चाहिए.
  •  त्वचा पर चमक के लिए खूब पानी पीना चाहिए.
  •  औयली स्किन होने पर औयल कंट्रोल फेसवाश का प्रयोग करें.
  • मुंहासे और दाने होने पर कालीमिर्च शहद के साथ मिलाने से आराम मिलता है.
  • आंखों के नीचे के डार्क सर्कल्स हटाने के लिए आलू का रस लगाने से लाभ होता है.
  •  केला कुदरती क्लींजर होता है. इस से चेहरा साफ होता है.
  •  अनचाहे बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग करवाएं. शेविंग करने से त्वचा खराब होती है.
  •  खास मौकों पर गोल्ड एवं पर्ल फेशियल कराएं.
  •  झांइयों और दागधब्बों को हटाने के लिए बेसन में मौसमी का जूस मिला कर लगाने से लाभ होता है.
  •  पिंपल्स ज्यादा होने पर नीबू और मुलतानी मिट्टी को मिला कर लगाने से आराम मिलता है.
  •  स्किन हार्ड होने पर शेव से पहले नीबू का रस लगाएं. शेविंग जैल लगाने के बाद शेव आसानी से बन जाती है. फोम का प्रयोग ज्यादा नहीं करना चाहिए. इस से त्वचा खराब होती है.
  •  गरमी और धूप में पूरी बांह की कौटन शर्ट पहनें. यह त्वचा को नुकसान नहीं पहुंचाती और त्वचा का रंग भी खराब नहीं होता है.

Tags:
COMMENT