शादी सहित अन्य समारोह में भोज पान के बिना अधूरा है. ज्यादतर लोग स्वाद के लिए पान खाते हैं लेकिन उनको पता नहीं होता कि पान खाने से उनको कई अन्य फायदे भी होते हैं. पान के पत्ते में कई ऐसे तत्व होते हैं जो बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं. जिन लोगों के मुंह से बदबू आती है उनके लिए भी पान का सेवन काफी फायदेमंद होता है. इसमें इस्तेमाल होने वाले मसाले जैसे लौंग, कत्था और इलायची भी मुंह को फ्रेश रखने में सहायक होते हैं. पान खाने वालों के लार में एस्कॉर्बिक एसिड का स्तर भी सामान्य बना रहता है, जिससे मुंह संबंधी कई बीमारियां होने का खतरा कम हो जाता है.

पान में अल्प मात्रा में कपूर की मात्रा के साथ 3-4 बार चबाने से पायरिया दूर होता है. लेकिन यह बात ध्यान रखें की पान की पीक पेट में नहीं जानी चाहिए. अगर आपको खांसी आ रही हो तो आप पान के पत्ते में अजवाइन डालकर चबाएं. इससे आपको खांसी से भी आराम मिलेगा. किडनी खराब होने पर भी आप पान का सेवन कर सकते हैं. पान खाने से किडनी खराब होने का खतरा कम होता है.

ये भी पढ़ें- जानें क्या है यौन रोग के शुरुआती लक्षण

मसूड़ों में सूजनपर या गांठ आ जाने पर
मसूड़े में गांठ या फिर सूजन हो जाने पर पान का इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है. पान में पाए जाने तत्व इन उभारों को कम करने का काम करते हैं. मुंह में छाले पड़ जाने पर पान के रस को देशी घी से लगाने पर प्रयोग करने से फायदा होता है.

पाचन में सहायक
पान खाना पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद है. ये सैलिवरी ग्लैंड को सक्रिय करके लार बनाने का काम करता है जोकि खाने को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ने का काम करता है. कब्ज की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए भी पान की पत्ती चबाना काफी फायदेमंद है. गैस्ट्र‍िक अल्सर को ठीक करने में भी पान खाना काफी फायदेमंद है.

साधारण बीमा‍रियों और चोट लगने पर
अगर आपको सर्दी हो रखी है तो ऐसे में पान के पत्ते आपके लिए फायदेमंद रहेंगे. इसे शहद के साथ मिलाकर खाने से फायदा होता है. साथ ही पान में मौजूद एनालजेसिक गुण सिर दर्द में भी आराम देता है. चोट लगने पर पान का सेवन घाव को भरने में मदद करता है. चोट पर पान को गर्म करके बांध लेना चाहिए. इससे दर्द में आराम मिलता है. जले हुए जगह पर पान लगाने से भी फायदा मिलता है.

ये भी पढ़ें–  लड़कों को क्यों जरुरी है अपने प्राइवेट पार्ट की ग्रूमिंग 

कामोत्तेजना बढ़ाने में
पान के पत्ते कामोत्तेजना बढ़ाने में भी सहायक होते हैं. अंतरंग पलों को और खुशनुमा बनाने के लिए आप पान के पत्तों को इस्तेमाल कर सकते हैं.

Tags:
COMMENT